मंत्री नरेंद्र तोमर के समर्थक POLICE का कैमरा और मोबाइल लूट ले गए

Monday, October 2, 2017

ग्वालियर। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र तोमर के समर्थकों ने रेलवे स्टेशन पर जमकर उत्पात मचाया। आरपीएफ अधिकारी का मोबाइल और पुलिस का हैंडीकेम कैमरा लूट ले गए। आरपीएफ अब तक इंतजार कर रही है कि कहीं से कैमरा वापस मिल जाए तो मामला रफादफा करें परंतु अब तक कैमरे और मोबाइल का कोई सुरा नहीं लगा है। मामला शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात का है।

ट्रेन के कोच की पोजिशन गलत होने पर तोमर समर्थकों ने जबलपुर-हजरत निजामुद्दीन ट्रेन की दो बार चेन पुलिंग कर दी थी। घटना का वीडियो बना रहे जीआरपी कर्मचारी और आरपीएफ एएसआई आरएस राणा का मोबाइल छीन कर उन्हें बुरी तरह धकिया दिया था। इस मामले में रेलवे अफसरों ने मंत्री तोमर से माफी मांगी थी बावजूद इसके दो रेल कर्मचारियों सीटीआई यूसी जैन व डिप्टी सीटीआई सरिता वर्मा को संस्पेंड कर दिया गया, जिन्हें रविवार शाम को बहाल कर दिया गया। 

अब तोमर समर्थकों और पुलिस अफसरों में मोबाइल और हैंडीकेम की बरामदगी को लेकर रणनीति चल रही है। इस बारे में कोई भी जिम्मेवार अफसर बोलने को कुछ तैयार नहीं है।आरपीएफ एएसआई वीके राय जब तोमर समर्थकों से उपद्रव करने से रोक रहे थे तो तोमर समर्थक अभ्रदता पर उतर आये। ये देख एएसआई ने मोबाइल से वीडियो बनाना शुरू कर दिया लेकिन यहां भी उसके साथ धक्का-मुक्की का तोमर समर्थकों ने मोबाइल छीन लिया। पुलिस अधिकारी को गंदी गालियां दीं। मंत्री तोमर भी अपने समर्थकों का साथ दे रहे थे। 

विवाद के चलते ट्रेन करीब 45 मिनट लेट हो गई। इस दौरान प्लेटफार्म पर आने वाली ट्रेनों को आउटर के पहले ही रोका गया। काफी देर तक हंगामा चलता रहा परंतु मंत्री ने अपने समर्थकों को रोकने का कोई प्रयास नहीं कियौ बाद में डिब्बे में बैठे केन्द्रीय मंत्री तोमर से रेल अफसरों और आरपीएफ स्टाफ ने माफी मांगी तब मामला शांत हुआ। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं