घर में आराम कर रहा था MLA का फरार भाई, कोर्ट के दखल पर हुई गिरफ्तारी

Sunday, October 22, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश के सिंगरौली से कांग्रेस विधायक कमलेश्वर पटेल के भाई जयनारायण पटेल लाखों के चेक बाउंस में एक साल से फरार चल रहे थे। आरोपी को टीटी नगर पुलिस ने पीड़ितों की सूचना पर घर से ही गिरफ्तार कर लिया है। उनके खिलाफ न्यायालय ने गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। शनिवार को देर होने के कारण न्यायालय से आरोपी को जमानत नहीं मिल पाई। आरोपी को रात में टीटी नगर थाने में ही रखा गया था। हालांकि, इस मामले में पुलिस कुछ भी बोलने से बच रही है। पीड़ितों ने पुलिस पर जानबूझकर जयनारायण को गिरफ्तार नहीं करने के आरोप लगाए थे।

अशोका गार्डन निवासी मोहम्मद अनीस कांट्रेक्टर हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2013 में उन्होंने जयनारायण पिता इंद्रजीत पटेल के साथ मिलकर मप्र हज हाउस का ठेका लिया था। जय पर उनका साढ़े 12 लाख रुपए बकाया था। इसके लिए जय ने उन्हें वर्ष 2016 में साढ़े छह लाख और छह लाख के दो चेक दिए, लेकिन चेक बाउंस हो गए। उन्होंने न्यायालय का दरवाजा खटखटाया तो न्यायालय से वारंट जारी कर दिया।

ये है पूरा मामला
फरियादी का आरोप है कि विधायक का भाई पिछले 1 वर्ष से उन्हें बकाया पैसों को लेकर लेकर परेशान कर रहा था। जब भी पैसा मांगने जाते थे, वह आजकल करके हमें चलता कर देता था। फरियादी का आरोप है कि एक साल पहले आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था, लेकिन उसकी एक वर्ष तक पुलिस ने गिरफ्तारी नहीं की। पुलिस को आरोपी की जानकारी भी हम ही दे रहे थे।

अनीस के अनुसार उन्हें जय के घर में होने की सूचना मिली थी। वे थाने पहुंचे तो पुलिस ने साथ चलने में ही एक घंटे से अधिक का समय लगा दिया। बड़ी मुश्किल से पुलिस ने जय को घर से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। लेकिन समय खत्म होने के कारण न्यायालय ने आरोपी को जमानत देने से मना कर दिया। कोर्ट ने टीटी नगर पुलिस को आरोपी को थाने ले जाने के आदेश दिए थे।

टीटी नगर पुलिस ने वारंट तो तामील करा दिया, लेकिन आरोपी को नहीं पकड़ा। इसके बाद जय के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुआ, लेकिन टीटी नगर पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया। इस दौरान कुछ और लोगों ने जय के खिलाफ चेक बाउंस के मामलों में शिकायत की।

टीटी नगर सीएसपी गोपाल सिंह का कहना है कि फरियादी की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था और आरोपी की तलाश की जा रही थी। जैसे ही पुलिस को शनिवार को आरोपी की जानकारी हुई तो पुलिस ने तुरंत कार्यवाही करते हुए भोपाल के रिवेरा टाउन स्थित निवास से उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इस आरोप को नकार दिया के विधायक का भाई होने के चलते पुलिस उसे बचा रही थी।

सीएसपी का कहना है कि पुलिस को जैसे ही जानकारी मिली है वैसे ही तुरंत कार्रवाई की। पिछले एक वर्ष से उसकी तलाश की जा रही थी लेकिन आरोपी फरार चल रहा था। रविवार को फिर से आरोपी की कोर्ट में पेशी होगी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week