जनता ने DSP को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, कपड़े फाड़े, हाथ जोड़कर माफी तब बची जान

Sunday, October 22, 2017

ग्वालियर। डीएसपी पीटीएस तिघरा रामानंद मोगनिया की कार बिरला नगर तिराहा पर बेकाबू हो गई और दो ठेलों को हवा में उड़ाते हुए चार लोगों को रौंद दिया। 5 मिनट तक सड़क पर डीएसपी की कार लहराती रही और सड़क के आसपास खड़े लोग खौफ में रहे। घटना शनिवार दोपहर 2.30 बजे बिरला नगर तिराहा की है। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने गाड़ी चला रहे डीएसपी और उनके साथियों को घेर लिया। उनके कपड़े फाड़ दिए, इतना ही नहीं सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। करीब 20 मिनट तक डीएसपी भीड़ के बीच घिरे रहे और हाथ जोड़कर माफी मांगते रहे। 

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पहले पुलिस को भी लोगों ने खदेड़ दिया, लेकिन बाद में अतिरिक्त फोर्स बुलाकर स्थिति को नियंत्रण में लिया गया। लोगों ने डीएसपी पीटीएस रामानंद मोगनिया पर शराब के नशे में गाड़ी चलाने का आरोप लगाया है।

शनिवार दोपहर करीब 2.30 बजे हजीरा के बिरला नगर तिराहा पर सब कुछ सामान्य चल रहा था। सड़क किनारे फल व चाट के ठेले खड़े थे। भाईदूज का त्योहार होने पर ठेलों के आसपास भीड़ लगी थी। तभी अचानक बिरला नगर प्रसूतिगृह के सामने तिराहा से एक सफेद रंग की टाटा स्पेशियो कार क्रमांक- एमपी03 ए-0609 तेज रफ्तार में टर्न लेती हुई सड़क पर लहराने लगी। यह नजारा देख आसपास खड़े लोग दहशत में आ गए।

जान बचाने के लिए लोग यहां वहां भागे, लेकिन बेकाबू कार ने सड़क किनारे खड़े एक फल व चाट के ठेले को टक्कर मारते हुए हवा में उछाल दिया। इतना ही नहीं बेकाबू कार चार लोगों को रौंदते हुए दीवार में जा भिड़ी। कार के रुकते ही उसमें सवार लोगों ने भागने का प्रयास किया। तीन लोग तो भाग गए, लेकिन एक युवक को भीड़ ने घेर लिया।

डीएसपी ने रौब झाड़ा तो पब्लिक ने पीटा
घटना के बाद भीड़ के बीच घिरे युवक ने खुद को पीटीएस तिघरा में पदस्थ डीएसपी रामानंद मोगनिया बताकर रौब झाड़ने का प्रयास किया। युवक के खुद को डीएसपी बताने से लोग और आक्रोशित हो गए। इसके बाद उन्होंने डीएसपी से मारपीट शुरू कर दी। उनके कपड़े भी फाड़ दिए। सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। भागने के दौरान सड़क पर गिरे डीएसपी ने कई बार उनको छोड़ने की भीख मांगी, लेकिन पब्लिक सुनने को तैयार नहीं थी।

हजीरा पुलिस को भी खदेड़ा
घटना की सूचना डीएसपी के साथियों ने पुलिस को दी। जिस पर बिरलानगर प्वाइंट पर तैनात दो जवान मौके पर पहुंचे। पर गुस्साए लोगों ने दोनों पुलिस कर्मियों को धमकाते हुए खदेड़ दिया। इसके बाद थाने से अन्य फोर्स बुलाकर मामले को नियंत्रण में लिया। डीएसपी को पुलिस हजीरा थाने लेकर पहुंची और कार को भी मौके से उठाकर थाने पहुंचाया गया है।

लोगों का आरोप- डीएसपी व उनके साथी नशे में थे 
लोगों ने आरोप लगाया है कि हजीरा के इन्द्रानगर इलाके में डीएसपी रामानंद मोगनिया रहते हैं। घटना के समय वही गाड़ी चला रहे थे। जब उनको पकड़ा तो वह काफी नशे में लग रहे थे। लोगों के आरोप के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। साथ ही अभी नशे की पुष्टि नहीं हुई है।

ये हुए घायल
घटना में सबसे पहले डीएसपी की गाड़ी ने सड़क पर खड़े नगर निगम कर्मचारी 25 वर्षीय विष्णु पुत्र अमृतलाल किरार निवासी सिंधिया नगर को टक्कर मारी। इसके बाद फल का ठेले में टक्कर मारी। जिस पर फल विक्रेता महेश पाल निवासी गदाईपुरा को काफी चोटें आई हैं। इसके बाद चाट के ठेले में टक्कर मारी। जिसमें ठेला संचालक सुनील राठौर और वहां चाट खा रहे रंजीत सिंह निवासी लाइन नंबर चार घायल हुए हैं।

नहीं है गाड़ी की पात्रता
ऐसा भी पता लगा है कि डीएसपी पीटीएस तिघरा को नियमों के अनुसार गाड़ी की पात्रता नहीं है। ट्रेनिंग सेल में सिर्फ एसपी को ही गाड़ी आवंटन की पात्रता होती है। पर डीएसपी गाड़ी आवंटित कर चला रहे थे। जब इस संबंध में एसपी पीटीएस एमएल छारी से बात की गई तो उन्होंने इस संबंध में कुछ भी स्पष्ट नहीं बताया है।

डीएसपी की गाड़ी थी
बिरला नगर तिराहा पर एक कार ने बेकाबू होकर कई लोगों को टक्कर मारी है। कार डीएसपी पीटीएस तिघरा रामानंद मोगनिया की है। घटना के समय वह गाड़ी में सवार थे।
अमित सिंह भदौरिया टीआई हजीरा

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week