चीनियों का स्वागत करने वाले CM शिवराज सिंह ने अमेरिका में लिया यूटर्न

Monday, October 23, 2017

भोपाल। जब सारा देश चीनी उत्पादों के विरुद्ध एकजुट और आंदोलित था। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी राजधानी भोपाल में चीनी कारोबारियों का स्वागत कर रहे थे। अब अमेरिका जाकर चीन पर भड़क रहे हैं। उन्होंने पूर्व रक्षामंत्री अरुण जेटली के बयान को दोहराया है। अमेरिका में शिवराज ने कहा कि आज भारत वैसा नहीं है, जैसा वे वर्ष 1962 में था। बता दें कि शिवराज सिंह अमेरिकी कारोबारियों से मध्यप्रदेश में निवेश मांगने गए हैं। शिवराज को भरोसा है कि अमेरिका के कारोबारी उनकी बात मांनेंगे और मध्यप्रदेश में बड़ा निवेश करेंगे। 

चौहान ने मौजूदा स्थिति में भारत और अमेरिका की मित्रता को गोल्डन पीरियड करार दिया। उन्होंने शीर्ष अमेरिकी नेतृत्व, खासकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन के भारत संबंधी हालिया बयानों का भी जिक्र किया। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दुनिया की दो सबसे बड़ी लोकतांत्रिक व्यवस्थाएं केवल अपने संबंध मजबूत करने के लिए ही नहीं, बल्कि वैश्विक कल्याण के लिए भी मिलकर काम रही हैं। इस हफ्ते के अंत में न्यूयॉर्क की यात्रा करने के अलावा मुख्यमंत्री सोमवार दोपहर बाद यूएस कैपिटोल में पहले पंडित दीन दयान उपाध्याय फोरम में मानवतावाद पर सभा को संबोधित करेंगे।

डोकलाम में चीन को पीछे हटना पड़ा
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि भारत लंबे समय से आतंकवाद का पीड़ित रहा है, लेकिन केवल पीएम मोदी के नेतृत्व में ही देश ने आतंकवादियों को शरण देने वालों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की। मुख्यमंत्री ने हालिया डोकलाम घटनाक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि भारतीय जवानों द्वारा दिखाई गई दृढ़ता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मजबूत भारत के उदय के कारण चीनी जवानों को आखिरकार वापस जाना पड़ा।

पाकिस्तान को अप्रत्यक्ष चेतावनी देते हुए चौहान ने कहा कि आतंकवाद पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। पाकिस्तान पर अपनी जमीन पर आतंकवादियों को पनाह देने के आरोप लगते रहे हैं। उन्होंने कहा यदि कोई (देश) आतंकवाद के मुद्दे पर हमें उकसाने की कोशिश करता है तो भारत उसे नहीं बख्शेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भारत वैश्विक शांति का सबसे बड़ा समर्थक है और दूसरों को उकसाना नहीं चाहता। उन्होंने हिंदी में सभा को संबोधित किया।

जीएसटी पर पीएम मोदी की तारीफ
चौहान ने नीति संबंधी अन्य दो बड़े निर्णयों- विमुद्रीकरण, वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) पर कहा कि केवल मोदी जैसी क्षमता वाला प्रधानमंत्री ही इस प्रकार के साहसिक फैसले ले सकता है। उन्होंने कहा, सामान्य प्रधानमंत्री विमुद्रीकरण का फैसला नहीं ले सकता। यह फैसला केवल वही ले सकता है जो कालेधन से निजात पाने और भ्रष्टाचार के खात्मे को लेकर दृढ़ हो। चौहान ने कहा कि यह मोदी सरकार ही है, जिसने जीएसटी पर निर्णय लिया और उसे लागू किया। मोदी ने एक देश, एक कर के सपने को साकार किया. उन्होंने कहा कि देश हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने भारतीय अमेरिकियों को भारत के समग्र विकास में साथी भारतीयों के साथ शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करते हुए कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत के विकास में तेजी आई है, निर्णय तेजी से लिए जा रहे हैं और महंगाई कम हुई है। देश का समग्र विकास हुआ है।

अमेरिका में भारतीय राजदूत नवतेज सरना ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान भारत के सर्वाधिक प्रगतिशील और दूरदर्शी नेताओं में से एक हैं। सरना ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में मध्य प्रदेश भारत के सबसे तेजी से विकास करने वाले राज्यों में शामिल हो गया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week