लक्झरी CAR का माइलेज 42 रुपए में 100 किलोमीटर

Saturday, October 21, 2017

नई दिल्ली। यदि आप दिल्ली-एनसीआर में रहते हैं तो आपके लिए कार का नियमित खर्चा सबसे ज्यादा माइलेज देने वाली पेट्रोल/डीजल बाइक से भी कम रहेगा। आप मात्र 42 रुपए में 100 किलोमीटर तक अपनी शानदार कार चला पाएंगे। बस आपको उसका इलेक्ट्रिक एडिशन लेना है। दिल्ली में अब पेट्राल पंप की तरह कार चार्जिंग स्टेशन बन रहे हैं। 5.50 रुपए प्रतियूनिट की दर से कोई भी अपनी कार चार्ज करवा सकता है। एक कार को चार्ज होने में 6 यूनिट खर्च होता है। मोदी सरकार ने 2030 तक सभी गाड़ियों को बिजली से चलाने का लक्ष्य रखा है। 

अगले तीन से चार साल में डीजल और पेट्रोल से चलने वाले सरकारी वाहनों की जगह इलेक्ट्रिक गाड़ियां लाने की योजना है। इसके लिए सार्वजनिक क्षेत्र की ऊर्जा दक्षता सेवा लिमिटेड (ईईएसएल) 10,000 इलेक्ट्रिक कार खरीद रही है। इलेक्ट्रिक वाहनों को चलाने के लिये बैटरी चार्ज करानी होगी। यह माना जा रहा है कि चार्जिंग केंद्र लगाने में बिजली वितरण कंपनियों की अहम भूमिका होगी। 

एक यूनिट 5.50 रुपये
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली मे उत्तर और उत्तर पश्चिम भाग में बिजली वितरण का जिम्मा संभाल रही टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रब्यिूशन लिमिटेड (टाटा पावर डीडीएल) के प्रमुख सिन्हा ने कहा, हम इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग के लिए जरूरी ढांचागत सुविधा तैयार कर रहे हैं। डीईआरसी ने इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिये 5.50 रुपये प्रति यूनिट का शुल्क तय किया है। 

6 से 8 यूनिट्स में फुल चार्ज
उन्होंने बताया कि एक गाड़ी को चार्ज करने में 6 से 8 यूनिट्स लगेंगी और इसके जरिए लगभग 100 किलोमीटर तक की यात्रा की जा सकती है। इस लिहाज से आपको 100 किलोमीटर चलने के लिए लगभग 33 रुपये से 42 रुपये खर्च करने होंगे जो पेट्रोल और डीजल के मुकाबले काफी कम हैं और पर्यावरण के अनुकूल भी। 

फास्ट चार्जिंग सेंटर
चार्जिंग में लगने वाले समय के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, फास्ट चार्जिंग केंद्र इलेक्ट्रिक वाहनों को 30 मिनट में चार्ज कर देते हैं जबकि सामान्य चार्जिंग केंद्र में 6 से 8 घंटे लगते हैं। सामान्य चार्जिंग केंद्र पर जहां 1,00,000 रुपये तक का खर्च आता हैं वहीं फास्ट चार्जिग केंद्र लगाने में खर्च थोड़ा अधिक बैठता है।

दिल्ली में 5 केंद्र
सिन्हा ने कहा, अभी राष्ट्रीय राजधानी में हमने पांच जगहों- रोहिणी, दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर, पीतमपुरा, शालीमार बाग और मॉडल टाउन में चार्जिंग केंद्र लगाए हैं। पर अभी गाड़ियों की संख्या बहुत अधिक नहीं है। संख्या बढ़ाने पर हम चार्जिंग केंद्रों की संख्या बढ़ाएंगे। वैसे हमारी अगले 5 साल में 1,000 चार्जिंग केंद्र लगाने की योजना है। 

पार्किंग में चार्ज
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, हम पार्किंग स्पेस, शापिंग मॉल, डीएमआरसी परिसरों में बैटरी चार्जिंग केंद्र लगाएंगे। इसके लिए हम विभिन्न पक्षों के साथ बातचीत कर रहे हैं। सिन्हा ने कहा, बैटरी चार्जिंग के लिए सबसे उपयुक्त जगह पार्किंग स्पेस है। लेकिन यह संभव नहीं है कि लोग पार्किंग के लिये भी पैसा दें और चार्जिंग के लिए भी शुल्क अदा करें। हम विभिन्न पक्षों के साथ बातचीत कर रहे हैं लेकिन दिक्कत यह है कि सभी पार्किंग जगह नीलामी के जरिए आवंटित किए गए हैं। अत: हर इकाई अलग है जिससे थोड़ी समस्या हो रही है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week