भाजपा के लिए BHOPAL में पुलिस ने चक्काजाम करवा दिया

Saturday, October 14, 2017

भोपाल। भोपाल पुलिस की जिम्मेदारी है कि वो यातायात को सुचारू रखे परंतु भाजपा की एक रैली को पुलिस ने उस समय खुली छूट दे दी जबकि पीक टाइम चल रहा था। सड़क पर हेवी ट्रेफिक था। पुष्य नक्षत्र होने के कारण सड़कों पर अतिरिक्त भीड़ थी। भाजपा के कार्यकर्ता केरल में हुईं हत्याओं का विरोध कर रहे थे। इस दौरान 2 घंटे तक सड़कों पर जाम की स्थिति बनी रही। हालात यह थे कि हेलमेट के लिए पूरी टुकड़ी तैनात कर देने वाली यातायात पुलिस इस दौरान दिखाई ही नहीं दी। 

यह जानते हुए भी कि शुक्रवार को पुष्य नक्षत्र है। त्यौहारी बाजार में भीड़ रहेगी, भाजपा ने शाम 5 बजे अपना कार्यक्रम तय किया। कार्यक्रम स्थल था बोर्ड ऑफिस चौराहे पर पुलिस चौकी के पास। इस दौरान यहां बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता भी एकत्रित हुए। पुलिस व्यवस्था को संभाल नहीं पाई और वाहनों की लंबी कतारें लग गई। राहगीर घंटों जाम में फंसे रहे। जो लोग दिवाली की खरीदारी करने जा रहे थे वे भी बाजार नहीं पहुंच पाए। लोगों में अव्यवस्था को लेकर जमकर नाराजगी रही। हालात यह थे कि मेन रोड ही नहीं, एमपी नगर के अंदर की सड़कों पर भी वाहन फंसे हुए थे। रेंग-रेंग का वाहन आगे बढ़ रहे थे। लोग पसीन-पसीना हो रहे थे और इस अव्यवस्था के लिए पुलिस को कोस रहे थे।

डेढ़ किमी लंबा जाम
एमपी नगर में बोर्ड ऑफिस चौराहे से चेतक ब्रिज तक करीब डेढ़ किलोमीटर लंबा जाम रहा। जब लोग जाम में फंस गए तो वे एमपी नगर के भीतर से जाने लगे। यहां भी जाम लग गया। रचना नगर अंडर ब्रिज पर धूल और धुएं के बीच लोग फंसे रहे। स्थिति यह थी कि पैदल लोग भी जाम के कारण निकल नहीं पा रहे थे। वाहनों की तो बात ही दूर की है।

पुलिस की चौपट व्यवस्था
एक घंटे से भी ज्यादा देर से जाम में फंसे भेल निवासी सुरेश पाठक ने बताया कि पुलिस केवल भाजपा के कार्यक्रम में ही तैनात रही। बाकी सब जगह से यह नदारद थी। उन्होंने नाराजगी भरे लहजे में कहा कि रात में जगह-जगह चालान काटने के लिए तो पुलिस खड़ी रहती है लेकिन जाम खुलवाने के समय गायब हो गई। रचना नगर अंडर ब्रिज पर जाम में फंसे आशु सिंह ने कहा कि पुलिस केवल दिखवा करती है। जब मौका होता है तो नदारद हो जाती है। लोग परेशान होते हैं तो होते रहें।

खरीदारी के समय कार्यक्रम
जाम में फंसे लोगों ने बीजेपी के आयोजन पर भी सवाल उठाए। जाम में फंसे अशोका गार्डन निवासी इब्राहिम अली ने कहा कि बीजेपी को भी शाम को ही कार्यक्रम आयोजित करना था। इस वक्त लोग ऑफिस से घरों की ओर जाते हैं। इसी समय जाम भी लग गया। जो आदमी छह बजे घर पहुंचता है वह करीब दो घंटे देर से पहुंचेगा। मुकुंद कुमार ने बताया कि वे बच्चों को कपड़े दिलवाने जा रहे थे लेकिन जाम में ही बहुत देर से फंसे हुए हैं। बच्चे भी बहुत थक गए इसलिए वे वापस घर लौटेंगे।

यहां लगा जाम
एमपी नगर के चारों ओर
बोर्ड ऑफिस से चेतक ब्रिज
रचना नगर अंडर ब्रिज
प्रगति पेट्रोल पंप रोड
डीबी सिटी, भोपाल हाट से पर्यावास भवन
डीबी सिटी से प्रेस कॉम्पलेक्स
सुभाष नगर अंडर ब्रिज के आसपास का क्षेत्र

एमपीनगर सक्रिल डीएसपी ट्रैफिक सुशील तिवारी का कहना है कि 
वो एक राजनीतिक कार्यक्रम था, जिस कारण से लोगों को आवागमन में असुविधा हुई है, जाम जैसी स्थिति नहीं बन पाई थी। कार्यक्रम को देखते हुए, आम दिनों से ज्यादा ट्रैफिक पुलिस कर्मचारियों को प्वाइंट पर तैनात किया गया था। जिस समय लोगों को परेशानी हुई है, उसका समय ट्रैफिक का दबाव अधिक हो गया था, उसी समय मंत्रालय के कर्मचारियों का भी निकलना शुरू हुए थे। रैली की अनुमति प्रशासन ने दी थी। उस मामले में एसडीएम उचित जबाव दे सकते हैं। उनके द्वारा ही इस राजनीतिक कार्यक्रम को अनुमति प्रदान की जाती है।

------------------
सर्विस रोड पर रैली निकाली थी। जिला प्रशासन को रैली की जानकारी दी गई थी। भीड़ ज्यादा हो गई, इसलिए जाम लग गया। प्रजातंत्र में विरोध करने के लिए सड़कों पर उतरना पड़ता है।
सुरेंद्रनाथ सिंह, 
विधायक व भाजपा जिलाध्यक्ष

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week