कानपुर में रहस्यमयी हत्याकांड, किसी को पता ही नहीं चला कब गोली मार दी गई

Sunday, October 15, 2017

कानपुर। रात को सबकुछ सामान्य था। 28 वषी्रय युवक आशीष परिवार के साथ था। सोने के लिए उसने चारपाई उठाई और ट्रेक्टर के पास लेट गया। रात 11 बजे मां ने देखा तो आशीष मोबाइल में कुछ कर रहा था। फिर मां भी सो गई। सुबह जगाने आई तो देखा आशीष की खून से लथपथ लाश पड़ी है। किसी ने उसे गोली मार दी थी। हत्या कब हुई और किसने की किसी को पता ही नहीं चला। 

शिवराजपुर के बर्राजपुर वार्ड नंबर छह में अशोक दुबे, उनकी पत्नी और नगर पंचायत शिवराजपुर की पूर्व सभासद रानी, दो पुत्र आशीष (28) उर्फ आशू, नीशू और पुत्री दीक्षा रहते हैं। अशोक के मुताबिक शुक्रवार देर रात घर आए बड़े पुत्र आशू ने चारपाई उठाई और बाहर बरामदे में ट्रैक्टर के पास जाकर लेट गया। रात करीब 11 बजे देखा की आशू मोबाइल पर कुछ देख रहा है। इसके बाद वह छत पर जाकर सो गए। शनिवार सुबह करीब 6:40 बजे तक आशू के न जागने पर पत्नी रानी चारपाई के पास गई। चादर हटाकर देखा तो आशू का खून से लथपथ पड़ा शव मिला। यह देख रानी की चीख निकल पड़ी। चीख सुन वह भी दौड़ कर मौके पर पहुंचे। तब उन्हें घटना की जानकारी हुई। देखते ही देखते मोहल्ले के लोग भी वहां जमा हो गए। 

सूचना के बाद करीब 7:50 बजे एसओ शिवराजपुर जसवंत सिंह मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी डॉग स्क्वायड, फोरेंसिक टीम और आलाधिकारियों को दी। एसओ के मुताबिक आशू की हत्या 32 बोरे के तमंचे से रात बारह बजे के बाद की गई है। मौके से 32 बोर का कारतूस भी बरामद किया गया है। पीड़ित परिजनों ने क्षेत्र में किसी से पुरानी रंजिश से साफ इंकार किया व अज्ञात लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज कराया। 

गोली चलने की आवाज किसी को नहीं सुनाई दी 
घटना के वक्त घर की छत पर सो रहे पिता अशोक दुबे को गोली की आवाज नही सुनाई दी। न ही मोहल्ले वाले गोली की आवाज सुन सके। घटनास्थल के समीप घनी बस्ती होने और करीब 500 मीटर पर पुलिस थाना होने के बाद भी आधी रात की घटना की जानकारी किसी को कानों कान नहीं हुई। 

आशू के मोबाइल में लड़की की मिसकॉल
पुलिस को आशू की चारपाई से जो मोबाइल बरामद हुआ, उसमें एक लड़की की मिस काल मिली है। पुलिस ने इस नंबर पर काल की तो लड़की ने पहले स्वयं को बाकरगंज का बताया। फिर, भैसऊ और आसपास के कई गांवों का नाम लिया। इसके बाद उसने अपना मोबाइल स्विच आफ कर दिया। पुलिस ने मोबाइल कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। आशू घर में सबसे बड़ा और अविवाहित था। भाई नीशू और बहन दीक्षा अभी पढ़ाई कर रहे हैं।

कनपटी से सटाकर मारी गोली
घर के बाहर सो रहे आशू की कनपटी के बाईं ओर हत्यारे ने 32 बोर के तमंचे से सटाकर गोली मारी। गोली बाईं ओर आर पार निकल गई। सटाकर गोली चलाने के कारण ज्यादा आवाज नहीं हुई। जांच अधिकारियों को अनुमान है कि घटना शुक्रवार रात 12 बजे के बाद की है। आशू ट्रैक्टर चलाने और खेतीबाड़ी का काम करता था। आसपास के लोगाें ने बताया कि शुक्रवार शाम को आशू अपने कई दोस्तों के साथ कासामऊ गांव में खान-पीने की पार्टी में भी गया था। पुलिस ने संदेह के आधार पर शराब दुकान के सेल्समैन और कासामऊ के एक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week