पीड़िता की मदद करने गया था अकाउंटेंट, 4.80 लाख रुपए लुटा बैठा

Thursday, October 19, 2017

ग्वालियर। ब्लैकमेलर गैंग ने यहां एक अकाउंटेंट को इस कदर जाल में फंसाया कि बेचारा 4.80 लाख रुपए लुटा बैठा। ​रैकेट की डिमांड इस पर भी खत्म नहीं हुई। अंतत: अकाउंटेंट ने पुलिस की शरण ली। पुलिस ने पूरे गिरोह को दबोच लिया है। इसमें भाई बहन भी शामिल हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि इस बार युवती ने डोरे डालकर अकाउंटेंट को जाल में नहीं फंसाया बल्कि मदद की मांग की थी। अकाउंटेंट को लगा कि उसे प्रोफशनल हेल्प चाहिए। उसे क्या पता था कि वो एक जाल में फंसने जा रहा है। 

पुलिस के मुताबिक, सेंवढ़ा में 'सब कॉलोनी' के अकाउंटेंट अशोक कुमार गुप्ता को ब्लैकमेल कर 4.80 लाख रुपए से ठगा गया है। मास्टरमाइंड यूसुफ की प्रेमिका पूनम अकाउंटेंट के यहां नौकरी करती है। अशोक को पिछले माह महिला आरजू पठान ने फोन किया और कहा कि उसने अशोक को दतिया में देखा है। परेशानियाें को लेकर मिलना चाहती है। 17 सितंबर को अशोक सेंवढ़ा से मुरैना जाते में ग्वालियर होते हुए निकले और आरजू ने विक्की फैक्टरी पर मिलने बुलाया। यहां आरजू ने अकाउंटेंट अशोक कुमार को सहेली के घर चलने को कहा और टीनशेड में पहुंचते ही गोलू चौरसिया नाम का लड़का आ गया। यहां गोलू की बहन आशा चौरसिया भी आ गई। आशा कहने लगी तुम सब गलत काम कर रहे हो।

आरजू चिल्लाने लगी कि अशोक ने उसके साथ रेप किया है। मामला छिपाने की शर्त पर सभी ने अशोक से 2.5 लाख रुपए मांगे। जब अशोक ने कहा अभी इतने पैसे नहीं है तो गोलू ने बाइक की मांग की और अशोक को टीवीएस शोरूम ले गए। यहां अशोक से 97 हजार का चेक जमा करा दिया। आरजू और आशा बाकी के पैसे लेने स्कूटी पर बैठाकर अशोक को ले जाने लगे लेकिन मालनपुर से आरजू अपने बच्चे की तबीयत खराब होने पर लौट आई।

आशा सेंवढ़ा में अशोक के घर एक रात रुकी और सुबह उससे बैंक से 1.5 लाख निकलवा लिए। अशोक ने टीवीएस शोरूम में दिए चेक को रुकवा दिया। 20 सितंबर को अाशीष यादव नाम का युवक अशोक के घर आया और कहा कि उसे पूरा मैटर पता है, 4 लाख रुपए चाहिए। अशोक ने डरकर फिर 3.10 लाख रुपए दे दिए। आशीष और पैसे मांगने लगा तो अशोक ने पुलिस को मामला बता दिया।

ये लोग हुए गिरफ्तार
आशा और उसका भाई गोलू चौरसिया, आरजू व उसका भाई यूसुुफ पठान को पुलिस ने पकड़ा है। यूसुफ सब्जी का ठेला लगाता है और आरजू मुंबई में शादी कर पति छोड़ चुकी है। पुलिस ने अभी 5 हजार रुपए ही बरामद किए हैं। आशीष की तलाश जारी है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week