मालामाल कर देगी 2017 की दीपावली पूजा, गुरु चित्रा संयोग और मंगलकारी मुहूर्त

Thursday, October 12, 2017

इस बार दीपावली का त्योहार 19 अक्टूबर 2017 को मनाया जाएगा। इस बार 19 अक्टूबर दीपावली के दिन कई संयोग एक साथ बन रहे हैं जैसे कि दीपावली इस बार गुरुवार को पड़ रही है जिसके कारण गुरु योग बन रहा है। इसके साथ अमावस्या तिथि, चित्रा नक्षत्र भी है। 7 चौघड़िए, एक अभीजित मुहूर्त और दो लग्न भी बन रहे हैं। कार्तिक मास की अमावस्या को मां लक्ष्मी भगवान गणेश की पूजा करने का विधान होता है। इस बार 27 साल बाद दीपावली पर गुरु चित्रा का संयोग बन रहा है। इससे पहले ऐसा योग 1990 में बना था। ज्योतिष गणना के अनुसार ऐसा संयोग 4 साल बाद 2021 में बनेगा। 

धर्म शास्त्रों में दीपावली में लक्ष्मी गणेश पूजन में प्रदोष काल का विशेष महत्व होता है। दिन-रात के संयोग को ही प्रदोष काल कहते है। क्योंकि दिन का समय भगवान विष्णु का स्वरूप है और रात माता लक्ष्मी का स्वरुप। इन दोनों के संयोग काल को ही प्रदोष काल कहते है। इसमें दीपावली पूजन करना शुभ होता है। इस बार शाम 05.43 से रात 08.16 तक प्रदोषकाल रहेगा। इस दौरान लोग धन, सुख-समृद्धि की कामना से लक्ष्मी, गणेश व कुबेर का पूजन कर सकेंगे।

ब्रह्रापुराण में दीपावली पूजन के शुभ मुहूर्त के बारे में बताया गया है। माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिये इस दिन को बहुत ही शुभ माना गया है। घर में सुख-समृद्धि बने रहे और मां लक्ष्मी स्थिर रहें इसके लिये दिनभर मां लक्ष्मी का उपवास रखने के उपरांत सूर्यास्त के पश्चात प्रदोष काल के दौरान स्थिर लग्न में मां लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिये। इस मुहूर्त में लक्ष्मी पूजन और सामानों के खरीदारी शुभ मानी जाती है।

दिवाली 2017 का शुभ मुहूर्त
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त- 19:11 से 20:16
प्रदोष काल- 17:43 से 20:16
वृषभ काल- 19:11 से 21:06
अमावस्या तिथि आरंभ- 00:13 (19 अक्तूबर)
अमावस्या तिथि समाप्त- 00:41 (20 अक्तूबर)

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week