इस बार बनेगा मोदी का XXL मंत्रिमंडल, 9 नाम फाइनल, नीतीश और AIADMK पर सस्पेंस

Saturday, September 2, 2017

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नया मंत्रिमंडल लगभग तैयार है। 9 नाम फाइनल हो चुके हैं। बस नीतीश कुमार की जेडीयू और एआईएडीएमके पर सस्पेंस बना हुआ है। माना जा रहा है कि यहां से एक एक नाम सामने आ जाएगा। यदि ऐसा हुआ तो इस बार का मंत्रिमंडल फुलसाइज होगा। पूरा XXL, इसके बाद कोई गुंजाइश ही शेष नहीं रह जाएगी। बता दें कि मंत्रिमंडल में कुल 81 मंत्री बनाए जा सकते हैं। फिलहाल 73 मंत्री शामिल हैं। 8 मंत्रियों का इस्तीफा हो चुका है ओर 9 नाम फाइनल हो गए हैं, इनकी आधिकारिक घोषणा अभी नहीं हुई है। 

ये हैं 9 नए नाम
1) अश्विनी कुमार चौबे (बिहार)
2) शिव प्रताप शुक्ल (यूपी)
3) वीरेंद्र कुमार (मध्यप्रदेश)
4) अनंत कुमार हेगडे (कर्नाटक)
5) राजकुमार सिंह (बिहार)
6) हरदीप सिंह पुरी (सीनियर ब्यूरोक्रेट)
7) गजेंद्र सिंह शेखावत (राजस्थान)
8) सत्यपाल सिंह (बीजेपी)
9) अल्फाेन्स कन्ननथानम (केरल)

JDU-AIADMK पर सस्पेंस क्यों?
नीतीश कुमार ने कहा, "कैबिनेट फेरबदल को लेकर हमसे कोई बातचीत नहीं की गई है और, ना ही दिल्ली में हमारे सांसदों को किसी तरह का इन्विटेशन दिया गया है। JDU के एक सीनियर लीडर ने कहा, "हमारे सांसद दिल्ली में हैं। सरकार में साझेदारी को लेकर पार्टी के भीतर कभी कोई मसला नहीं रहा है लेकिन, अभी तक हमसे कोई कम्युनिकेशन नहीं किया है। इस बारे में भी नहीं कि कैबिनेट में फेरबदल रविवार को होना है।

AIADMK पर सस्पेंस इसलिए है, क्योंकि अभी तक पार्टी ने ये कन्फर्म नहीं किया है कि वो NDA ज्वाइन कर रही है या फिर नहीं। हालांकि, इससे अलग पार्टी के लीडर थम्बिदुराई ने अमित शाह से शनिवार को मुलाकात की है।

अभी ये हैं टॉप-5
सरकार में अभी टॉप-5 नेताओं में सीनियॉरिटी का क्रम इस तरह है- 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 
गृह मंत्री राजनाथ सिंह, 
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, 
डिफेंस-फाइनेंस-कॉर्पोरेट अफेयर्स मंत्री अरुण जेटली, 
रोड ट्रांसपोर्ट और हाईवेज मंत्री नितिन गडकरी और 
रेल मंत्री सुरेश प्रभु।

इन चार मंत्रालयों को फुलटाइम मिनिस्टर की जरूरत
डिफेंस: मनोहर पर्रिकर के गोवा के सीएम के रूप में लौटने के बाद अरुण जेटली के पास डिफेंस मिनिस्ट्री का एडिशनल जिम्मा है।
पर्यावरण: राज्यसभा सदस्य अनिल माधव दवे का निधन होने के बाद पर्यावरण मंत्रालय का एडिशनल चार्ज डॉ. हर्षवर्धन को दिया गया है। उनके पास पहले से साइंस एंड टेक्नोलॉजी और अर्थ साइंस मंत्रालय है।
शहरी विकास: एम वेंकैया नायडू के उपराष्ट्रपति बनने के बाद शहरी विकास मंत्रालय का जिम्मा नरेंद्र सिंह तोमर को सौंपा गया, जो ग्रामीण विकास मंत्री भी हैं।
सूचना-प्रसारण: नायडू के पास सूचना और प्रसारण मंत्रालय का प्रभार भी जो अभी स्मृति ईरानी काे दिया गया है। स्मृति कपड़ा मंत्री भी हैं।

कितने मंत्री बनाए जा सकते हैं?
फिलहाल, केंद्र सरकार में प्रधानमंत्री समेत 73 मंत्री हैं। मंत्रियों की संख्या 81 से ज्यादा नहीं हो सकती है। इस हिसाब से मोदी अभी 8 और नए मंत्रियों को अपने कैबिनेट में जगह दे सकते हैं। बता दें कि संवैधानिक संशोधन के मुताबिक, कैबिनेट में मंत्रियों की लिमिट लोकसभा की कुल स्ट्रैंथ (545) के 15% से ज्यादा नहीं हो सकती है। 73 मंत्रियों में 24 कैबिनेट मंत्री और 12 राज्य मंत्री हैं। वहीं, 36 के पास स्वतंत्र प्रभार है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week