वाट्सएप ग्रुपों की छानबीन करेंगे सरकारी जासूस, SMS पर आएगा नोटिस

Saturday, September 2, 2017

भोपाल। अश्लील एवं भड़काऊ पोस्ट के मामले लगातार बढ़ने के बाद अब मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने व्हाट्सऐप ग्रुपों पर नियमित रूप से नजर बनाए रखने के लिए भोपाल में 5 अफसरों को तैनात कर दिया है। खुफिया मामलों के लिए काम कर चुके ऐसे अधिकारी अब चुपके चुपके आपकी व्हाट्सऐप पोस्ट पढ़ेंगे। यदि आपकी पोस्ट आपत्तिजनक हुई तो आपको एसएमएस करके नोटिस भेजा जाएगा। इसके बाद भी हरकतें जारी रहीं तो मामला दर्ज कर जेल भेज दिया जाएगा। 

जानकारी के अनुसार एक व्हाट्सऐप मॉनीटरिंग सेल में जिले के उन चुनिंदा पांच अफसरों को तैनात किया गया है, जो खुफिया शाखा में काम कर चुके हैं या काम कर रहे हैं। शुरुआत में सेल व्हाट्सऐप पर भेजी गई सूचना की तस्दीक करेगी। अगर वह गलत जानकारी है तो उसका खंडन जारी करेगी। उसके बाद भी व्हाट्सऐप पर पोस्ट नहीं रुकती है तो फिर पोस्ट करने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। डीआईजी संतोष सिंह के निर्देश पर भोपाल पुलिस के स्पेशल ब्रांच के एआईजी विवेक लाल को मॉनीटरिंग सेल का प्रभारी बनाया गया है।

भोपाल में सोशल मीडिया पर लगी है धारा 144
व्हाट्सऐप-फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों के खिलाफ कलेक्टर भोपाल ने धारा 144 लागू की है। इसके तहत गणेश उत्सव, बकरीद, नवरात्र, दशहरा आदि त्योहारों के दौरान सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सऐप, फेसबुक आदि के माध्यम से समुदायों के मध्य वैमनस्यता की स्थिति निर्मित करने के लिए आपत्तिजनक संदेश एवं चित्रों, विडियो तथा ऑडियो को पोस्ट किया गया तो दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी।

मैसेज पर रखेंगे नजर
वॉट्सएप मॉनीटरिंग सेल बनाई जा रही है। इसे एक-दो दिन में अंतिम रूप दिया जाएगा। सेल वॉट्सएप ग्रुप पर आने वाले मैसेज पर नजर रखेगी। सेल की मॉनीटरिंग एएसपी स्तर के अफसर करेंगे। 
संतोष कुमार सिंह, डीआईजी

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week