RYAN: पुलिस की कहानी झूठी निकली, स्कूल प्रबंधन संदेह की जद में

Tuesday, September 12, 2017

नई दिल्ली। RYAN INTERNATIONAL SCHOOL में हुई 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है और इसी के साथ प्रद्युम्न की हत्या का रहस्य गहरा गया है। प्रद्युम्न के शव का पीएम करने वाले डॉक्टर ने बताया है कि प्रद्युम्न के शरीर पर यौन शोषण के कोई निशान नहीं मिले हैं। जबकि पुलिस का दावा है कि अशोक ने प्रद्युम्न के यौन शोषण की कोशिश की है। डॉक्टर के खुलासे के बाद पुलिस की कहानी पर सवाल खड़े हो गए हैंं, साथ ही स्कूल प्रबंधन संदेह की जद में आ गया है। क्योंकि बस ड्राइवर सौरभ ने भी कैमरे के सामने बयान दिया है कि बस इससे पहले उसने जो बयान दिया था वो स्कूल प्रबंधन के दवाब में दिया था।

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई प्रद्युम्न की हत्या अब देश भर में मुद्दा बन गई है। इस मामले में पुलिस पर स्कूल प्रबंधन को संरक्षित करने के आरोप भी लगे हैं। अब पुलिस संदेह की जद में आ गई है क्योंकि पुलिस की यौन शोषण वाली कहानी भी झूठी पाई गई है। सरकारी डॉक्टर दीपक माथुर के मुताबिक प्रद्युम्न की मौत ज्यादा खून बहने के वजह से हुई है, क्योंकि कातिल ने उसकी गर्दन पर चाकू से दो वार किए थे।

प्रद्युमन की मौत के बाद उसके शव की जांच करने वाले सरकारी डॉक्टर दीपक माथुर ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि उसकी मौत का कारण ज्यादा खून बह जाना था। हालांकि उसके शरीर पर कहीं भी यौन शोषण से संबंधित कोई निशान नहीं मिले हैं।

इससे पहले धारा 164 के तहत रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दो बच्चों के बयान दर्ज किए गए हैं। दोनों बच्चों ने मजिस्ट्रेट और एसआईटी टीम के सामने बताया कि उन्होंने कंडक्टर अशोक को घटना के ठीक पहले बाथरूम में देखा था। इस मामले में पुलिस को कुछ और जानकारियां भी मिली हैं।

बच्चों के बयान के मुताबिक उस वक्त स्कूल के टॉयलेट में कुल तीन बच्चे थे। प्रद्युम्न की हत्या से पहले तीनों बच्चों ने कंडक्टर अशोक को टॉयलेट के अंदर देखा था। ये तीनों बच्चे अपनी ताइक्वांडो ड्रेस चेंज करने के लिए वहां गए थे। बच्चों ने अपने बयान में खुलासा किया है कि उस वक्त एक माली भी टॉयलेट के अंदर था। उसने भी कंडक्टर को टॉयलेट के अंदर देखा था। इसके बाद चारों टॉयलेट के बाहर चले गए थे। इसी बीच मौका पाकर उसी वक्त अशोक ने बच्चे की हत्या कर दी।

ड्राइवर सौरभ ने किया एक और खुलासा
बता दें कि आरोपी बस कंडक्टर अशोक को तीन दिन की पुलिस रिमांड के बाद सोहना कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 18 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। सोहना कोर्ट में पेशी के लिए लाए गए आरोपी अशोक पर लोग भड़क गए और पीटने की कोशिशों के बीच काफी हंगामा हुआ। इसी बीच रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने चौंकाने वाला खुलासा किया। उसने बताया कि हत्या में इस्तेमाल चाकू टूल किट का हिस्सा नहीं था।

घायल प्रद्युम्न को कार तक ले गया था अशोक
सौरभ ने बताया कि उसकी बस के टूल किट में चाकू नहीं था। टूल किट में चाकू होने की बात कहने के लिए स्कूल मैनेजमेंट की ओर से दबाव बनाया गया था। सौरभ ने बताया, घटना के बाद उसने अशोक की शर्ट पर खून के निशान देखे थे। इस बारे में पूछे जाने पर अशोक ने सौरभ से कहा कि वह खून से लथपथ प्रद्युम्न को कार तक लेकर गया था। इसी वजह से उसकी शर्ट पर खून लग गया। सौरभ की मानें तो अशोक से कई बार स्कूल का टॉयलेट इस्तेमाल करने को लेकर मना किया गया था, इसके बावजूद वह उस टॉयलेट में जाता था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week