सरकारी स्कूल जैसा घटिया हो गया था RYAN INTERNATIONAL: सरकारी रिपोर्ट

Wednesday, September 13, 2017

गुरुग्राम। रायन इंटरनैशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न मर्डर केस के बाद सुर्खियों में आए इस स्कूल के संदर्भ में कई खुलासे हो रहे हैं। अब हाल ही में हुई एक जांच रिपोर्ट सामने आई है। जांच जिला प्रशासन द्वारा गठित तीन सदस्यीय सब कमिटी ने की थी। रिपोर्ट में बताया गया है कि स्कूल में कई तरह की खामियां हैं और बच्चों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा था। रिपोर्ट में बताया गया है स्कूल में सीसीटीवी सही जगह नहीं लगे हैं। बाहर के स्टाफ के लिए अलग टॉइलेट की व्यवस्था नहीं है। बच्चों के लिए बनाए गए टॉइलेट भी सेफ नहीं हैं। स्कूल की बाउंड्री वॉल छोटी है और फायर सिस्टम भी खराब पाए गए। लापरवाही इस कदर कि कुछ स्टाफ का वेरिफिकेशन भी नहीं कराया गया था। कुल मिलाकर सरकारी स्कूल जैसी घटिया सुरक्षा व्यवस्थाएं यहां देखने को मिलीं। 

CM ने दिया बयान
आम जनता में भारी विरोध हो जाने के बाद हरियाणा सरकार स्कूल को नोटिस भेजने की तैयारी में है। इस मामले में हरियाणा सरकार की काफी किरकिरी हो चुकी है। शुरूआत में उसने चुप रहकर स्कूल प्रबंधकों को सबकुछ मैनेज कर लेने का मौका दिया। अब नोटिस की औपचारिकता की जा रही है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि जांच एक सप्ताह में पूरी कर ली जाएगी और जो लोग दोषी पाए जाएंगे उन्हें सजा मिलेगी।

अब सामने आया रायन का CEO
स्कूल में हत्या के बाद खून के धब्बे मिटाए गए और रायन इंटरनैशनल स्कूल्स ग्रुप के सीईओ रायन पिंटो ने बयान जारी किया है कि हम पुलिस जांच में सहयोग कर रहे हैं। जिसे पीड़ित बच्चे और उसके पेरेंट्स के साथ होना चाहिए था वो रायन इंटरनैशनल स्कूल्स ग्रुप का सीईओ रायन पिंटो 3 दिन तक चुप रहा। अब जबकि सारे देश में रायन पर सवाल उठ रहे हैं तो रविवार को एक बयान में उन्होंने पीड़ित परिवार के प्रति संवेदनाएं जाहिर करते हुए कहा कि स्कूल अपनी स्थापना से अब तक के सबसे दुखद समय का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा, 'यह समझा जा सकता है कि सभी हम से जवाब चाहते हैं। इसलिए हम पुलिस जांच में पूरा सहयोग कर रहे हैं। हमें कानून पर पूरा भरोसा है। हम सभी पक्षों से अपील करते हैं कि जांच चल ही रही है और हमें अभी से दोषी ना ठहराया जाए, जबकि हम खुद दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थिति के पीड़ित हैं।'

हम CBI जांच के लिए तैयार 
इससे पहले रविवार को गुरुग्राम पहुंचे प्रदेश के शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा ने कहा कि मालिक और प्रबंधन के खिलाफ केस दर्ज किया जा चुका है। हालांकि अन्य बच्चों के भविष्य का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि स्कूल की मान्यता रद्द नहीं की जाएगी। शर्मा ने यह भी कहा कि अगर पूरी जांच से प्रद्युम्न के माता-पिता संतुष्ट नहीं होंगे तो सरकार किसी भी एजेंसी से मामले की जांच के लिए तैयार है।

स्कूल के मालिक, प्रबंधन पर रहम नहीं करेंगे
अभिभावकों की नाराजगी और विरोध-प्रदर्शन के बीच शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा गुरुग्राम पहुंचे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए शर्मा ने साफ कहा कि बच्चे की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्कूल की ही होती है। एक बार बच्चा स्कूल के अंदर गया तो उसकी पूरी जिम्मेदारी स्कूल की ही होगी। स्कूल प्रबंधन पर कार्रवाई का ऐलान करते हुए शर्मा ने कहा, 'स्कूल मैनेजमेंट और मालिकों के खिलाफ कार्रवाई में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। कार्रवाई शुरू भी कर दी गई है। मैनेजमेंट और मालिक के खिलाफ केस दर्ज हो चुका है। बच्चे के कातिल को पूरी चार्जशीट के बाद कोर्ट में पेश किया जाएगा।'

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week