वंशवाद तो RSS में भी है, संघ प्रमुख खुद प्रचारक के बेटे हैं: दिग्विजय सिंह

Wednesday, September 13, 2017

भोपाल। कांग्रेस पर लगातार वंशवाद का आरोप लगाने वाली भाजपा पर दिग्विजय सिंह ने पलटवार किया है। उन्होंने ट्वीट करके बताया है कि परिवारवाद तो हर पार्टी में चल रहा है। भाजपा में भी है। यहां तक कि उसकी मातृसंस्था आरएसएस में भी है। गुजरात के प्रचारक मधुकर राव भागवत के बेटे मोहन भागवत आरएसएस के प्रमुख हैं। इससे पहले राहुल गांधी ने भी राजनीति में परिवारवाद को सही ठहराया था। उन्होंने कहा था कि यदि व्यक्ति योग्य है तो उसे इसलिए रोका नहीं जा सकता कि वो किसी नेता का पुत्र या परिवार से है। 

दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को अपने ट्वीट में आरएसएस में परिवारवाद के कुछ प्रमुख उदाहरण पेश किए। 'वर्तमान संघ प्रमुख मोहन भागवत गुजरात के पूर्व प्रचार प्रमुख मधुकर राव भागवत के बेटे हैं। इसी तरह वर्तमान प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य भी संघ के वरिष्ठ नेता एम.जी. वैद्य के पुत्र हैं। दिग्विजय सिंह ने दोहराया कि इससे फर्क नहीं पड़ता कि नेता का बेटा नेता या प्रचारक का बेटा प्रचारक है। फर्क इस बात से पड़ता है कि वो योग्य है या नहीं। 

बता दें कि राहुल गांधी की ताजपोशी से पहले एक बार फिर कांग्रेस पर वंशवाद का आरोप लग रहा है। अमेरिका में राहुल गांधी ने भी राजनीति में परिवारवाद को सही ठहराया था। भाजपा जो खुद को कार्यकर्ताओं की पार्टी कहा करती थी, इन दिनों परिवारवाद की बीमारी से त्रस्त है। यहां दर्जन भर नेताओं के परिजन कतार में हैं। 2018 के चुनाव में परिवारवाद के कारण टिकट वितरण भी गड़बड़ाएगा। हाल ही में हुईं नियुक्तियों में भी रिश्तेदारवाद साफ दिखाई दिया है। मप्र में तो 2019 के लोकसभा चुनाव में भी परिवारवाद नजर आएगा। कई दिग्गज नेता अपने परिवार के दूसरे सदस्यों को लोकसभा टिकट के लिए तैयार कर रहे हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week