राशन की दुकान में मिला घटिया चावल, PDS गोदाम हुआ सील

Saturday, September 23, 2017

राजेश शुक्ला/अनूपपुर। जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत वितरित की जाने वाली खाद्यान्नों में राईस मिलर सहित विभागीय अधिकारियों की सांठगांठ में पीडीएस गोदामों तक पहुंच रहे गुणवत्ताहीन चावल की आपूर्ति में शनिवार 23 सितम्बर को कलेक्टर के निर्देश पर जिला खाद्य अधिकारी एवं नागरिक आपूर्ति प्रबंधक ने वेंकटनगर के चोरभटी दुकान का निरीक्षण कर कीड़ा व नमीयुक्त चावल पाते हुए तत्काल उसे सील कर दिया। जबकि वेंकटनगर स्थित पीडीएस दुकान में कीड़ा लगा जालायुक्त चावल पाए जाने पर विधायक ने उसे मिलर को वापस करने विभाग को निर्देशित किया। दोनों स्थानों की दुकानों में जांच के उपरांत मौजूद अधिकारियों के दिए गए बयानों में फर्क आया। जिसमें अधिकारियों द्वारा मिलरों को बचाने के सुर मिलते नजर आए। 

जानकारी के अनुसार पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल सिंह मार्को 22 सितम्बर को स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होने वेंकटनगर क्षेत्र पहुंचे थे। जहां कार्यक्रम के उपरांत चोरभटी गांव में ग्रामीणों ने विधायक को उचित मूल्य की दुकान ले जाकर वितरित किए जा रहे गुणवत्ताहीन चावल को दिखाया। जहां विधायक ने वितरित किए जाने वाले चावल के सैम्पल लेकर 23 सितम्बर को कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे। कलेक्टर के समक्ष गुणवत्ताहीन चावल को रखते हुए दुकानों से ऐसे खाद्यान्नों के वितरण की शिकायत की। जिसपर कलेक्टर ने चावल के नमूनों को देखते हुए तत्काल खाद्य आपूर्ति विभाग और नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को तलब किया। साथ ही नमूना दिखाकर फटकार लगाते हुए तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए। आनन-फानन में विधायक के साथ मौके पर पहुंचे जांच अधिकारियों ने दुकानों में रखे खाद्यान्न की जांच पड़ताल की। 

जिसमें दोनों विभागाधिकारियों ने गोदाम में 30 क्विंटल से अधिक चावल को नमीदार और कीड़ा लगा पाया। जिसपर चावल वितरण को बंद कराते हुए दुकान सील किए जाने की बात कही। विधायक फुंदेलाल सिंह का कहना है कि वितरित की जाने वाली चावल अत्यंत गुणवत्ताहीन था, चावल गीला और कीड़ा लगा हुआ था। वहीं वेंकटनगर के चावल खाने योग्य नहीं थे। सूत्रों के अनुसार मिलर द्वारा वेयर हाउस के गोदामों तक पहुंचने वाले खाद्यान्नों की गुणवत्ता की जांच खाद्य आपूर्ति, नागरिक आपूर्ति एवं वेयरहाउस के प्रबंधक द्वारा जांच पड़ताल कर वाहन से उतारा जाना है। लेकिन इसके बाद भी जिले के सार्वजनिक वितरण की दुकानों पर अमानक चावलों की खेप उतर रही है। इससे पूर्व भी पुष्पराजगढ़ विधायक द्वारा वेयरहाउस गोदाम राजेन्द्रग्राम में रखे स्टॉक को गुणवत्ताहीन पाते हुए मिलर को वापस कराया था।

विधायक सहित दोनो अधिकारियों के बयानों में फर्क
एक ओर कार्रवाई के उपरांत विधायक फुंदेलाल सिंह ने गुणवत्ताहीन चावल बताते हुए दोनों दुकानों को सील करने की बात कही। वहीं नागरिक आपूर्ति विभाग प्रबंधक विख्यात हिंडोलिया ने सिर्फ एक दुकान में 60-65 बोरी गीला चावल होने की बात कही। जबकि जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी विपिन पटेल ने जाली युक्त चावल की बात कह दुकानों को सील नहीं किए जाने की जानकारी दी। तीनों के बयानों में यह स्पष्ट नहीं हो रहा कि आखिर चावल की क्वालिटी क्या रही और विभाग ने क्या कार्रवाई की।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week