शादीशुदा रेल कर्मचारी ने युवती को फंसाया, फिजिकल रिलेशन बनाए फिर MURDER

Thursday, September 21, 2017

बैतूल। पुलिस ने दावा किया है कि उसने बैतूल में सदाप्रसन्न घाट की खाई में मिले युवती के शव की गुत्थी सुलझा ली है। युवती का नाम कृष्णी यादव है। छात्रा को रेल कर्मचारी युवराज विश्वकर्मा ने प्यार के जाल में फंसाकर फिजीकल रिलेशन बना लिए थे। युवती को जब पता चला तो उसने भी शादी करने की जिद पकड़ ली। पीछा दुड़ाने के लिए रेल कर्मचारी ने उसकी हत्या कर दी और अपने चचेरे भाई की मदद से उसके शव को घाट में फैंक दिया। 

बुधवार को एसडीओपी अनिल कुमार शुक्ला और टीआई सुनील लाटा ने मामले का खुलासा किया। हत्या का आरोप में रेलकर्मी युवराज विश्वकर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। एसडीओपी शुक्ला ने बताया 7 सितंबर को सदाप्रसन्न घाट की खाई में हरे रंग की नेट और बेडशीट में लिपटी अज्ञात बॉडी मिली थी। जिसकी शिनाख्त 17 सितंबर को कृष्णी यादव निवासी बरसाली के रूप में हुई थी। जांच में खुलासा हुआ शादी के लिए दबाव बनाने के चलते युवराज ने कृष्णी यादव की हत्या कर चचेरे भाई सोनू की मदद से शव को सदाप्रसन्न घाट में फेंक दिया। टीआई सुनील लाटा ने बताया सोनू फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है।

शादीशुदा था आरोपी युवराज
रेलकर्मी युवराज शादीशुदा था। उसका विवाह 17 फरवरी 2016 को हुआ है। 3 सितंबर को पत्नी मायके गई थी। घटना के समय घर पर कोई नहीं था। विवाहित होने के बाद भी युवराज और कृष्णी मिलते रहते थे और मोबाइल पर भी चर्चा होती थी। कृष्णी यादव से 3 सितंबर को रेलकर्मी युवराज विश्वकर्मा ने बात की और दोनों बैतूल में मिले। इसके बाद युवराज उसे रेलवे कॉलोनी में स्थित मकान ले गया। कृष्णी ने युवराज से शादी करने और वापस घर नहीं जाने की बात कही। युवराज ने कृष्णी के सिर को दरवाजे के किनारे पर जोर से पटक दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। युवराज ने चचेरे भाई सोनू की मदद से शव को हरे नेट और बेडशीट से लपेटकर बोरी में भरा और बाइक से बैतूल से 75 किमी दूर सदाप्रसन्न घाट में लाकर खाई में फेंक दिया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं