MP: सरकारी कॉलेज के प्रोफेसर्स का युक्तियुक्तकरण होगा

Wednesday, September 27, 2017

भोपाल। सालों से बड़े शहरों में जमे प्रोफेसर्स को छोटे शहरों में जाना होगा। जो प्रोफेसर स्वयं ब्लॉक स्तर पर शिक्षण कार्य करना चाहेंगे सरकार उनका सम्मान करेगी। नहीं तो युक्तियुक्तकरण के तहत उन्हें कहीं भी भेजा जाएगा। यह बात मंगलवार को मैपकास्ट में उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया ने कही। यहां उच्च शिक्षा परिवार ने उनका सम्मान आयोजित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों में शोध कार्यों की जरूरत है। ज्ञान के क्षेत्र में शोध के जरिए तेजी से आगे बढ़ना होगा। प्रोफेसर्स को युवाओं को देश और समाज से जोड़ने का काम भी करना होगा। उन्होंने कहा कि युवाओं को धन से नहीं, बुद्घि से संपन्न बनने की जरूरत है।

ब्लू व्हेल पर जारी होगी गाइडलाइन
उन्होंने जिंदगी से आगे कॅरियर को नहीं आने की बात कही। पवैया ने ब्लू व्हेल गेम गेम पर रोक के लिए कॉलेज और विश्वविद्यालय की ओर से गाइड लाइन जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पढ़े लिखे होने के बाद भी युवाओं में आत्म हत्या की प्रवृत्ति कैसे मन बना लेती है, इसे दूर करना होगा। उन्होंने कहा शिक्षक समाज और युवाओं का प्रेरणादाता और आदर्श है।

एक माह में होगा निराकरण
पवैया ने कहा कि एसोसिएट प्रोफेसर बनने में छूट गये नामों का एक माह में निराकरण होगा। उन्होंने कहा कि लोक सेवा गारंटी में विद्यार्थियों की सुविधाओं को भी जोड़ा गया है। कार्यक्रम में उच्च शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव बीआर नायडू, आयुक्त नीरज मंडलाई सहित बड़ी संख्या में प्रोफेसर शामिल हुए।

राम-रहीम पर कटाक्ष
कार्यक्रम में पवैया ने बाबा राम रहीम पर भी कटाक्ष किया। उन्होंने कहा भगवान के कोर्ट में इस समय फास्ट ट्रैक कोर्ट चल रहा है। आश्चर्य होता है जब समाज को उपदेश देने वाले लोग कोर्ट में जज के सामने रोते हैं। उंगलियों पर गिने जाने वाले कुछ लोग हमारी परंपरा को कलंकित कर रहे हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week