mAadhaar: क्या फायदे मिलेंगे, कैसे इंस्टाल करें

Saturday, September 16, 2017

ई विनोद एम0 नागवंशी। हाल ही में रेलवे मंत्रालय ने एक बयान में कहा है की mAadhaar को अब रेल में यात्रा कर रहे लोग मान्य आईडी प्रूफ के तौर पर इस्तेमाल कर पाएंगे। यह कदम रेलवे मंत्रालय द्वारा उठाया गया है। इस पहल से यात्रियों को रेल में यात्रा करना और भी आसान हो जाएगा। यात्रियों को अब पहले की तरह टिकट की हार्ड कॉपी लेकर नहीं चलना पड़ेगा। जैसे मोबाइल में टिकट और आईडी प्रूफ दिखा कर ही काम हो जाता है। उसी तरह अब आईडी प्रूफ को भी अलग से लेकर नहीं चलना होगा। mAadhaar एप के जरिए यह काम आसान हो जाएगा।

जानिए कैसे करना है इंस्टॉल:
mAadhaar एप को हाल ही में UIDAI द्वारा डिजिटल भारत को प्रोत्साहित करने के लिए लॉन्च किया गया था। इस एप को डाउनलोड करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि फोन में वही नंबर होना चाहिए जो आपके आधार नंबर से लिंक है। जब आप एप में अपनी प्रोफाइल सेटअप करेंगे तो उस पर OTP आएगा। अगर मोबाइल नंबर एक्टिव नहीं होगा तो आप एप का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। एप को डाउनलोड करने के बाद जैसे ही आप इस एप को ओपन करेंगे, इसके बाद आपको 8-12 अक्षरों का पासवर्ड बनाना होगा। यूजर्स अपना आधार कार्ड नंबर डाल कर या आधार कार्ड पर मौजूद QR कोड डाल कर अपनी प्रोफाइल बना सकते हैं। एप में आगे जब भी आप कुछ करेंगे तो हर बार आपको पासवर्ड डालना होगा। पासवर्ड के बाद अगले पेज पर आधार कार्ड का डेटा डालना होगा। जब आप एप के मुताबिक डेटा डाल देंगे तो आपके पास वेरिफिकेशन के लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। एप ओटीपी को अपने आप इंटर कर लेगा। इसके बाद आधार कार्ड का डेटा अपने आप एप में आ जाएगा। यह एप अभी एंड्राइड यूजर्स के लिए उपलब्ध है। आईओएस यूजर को इस एप के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। एंड्रॉयड यूजर्स इस एप को नीचे दी गई गूगल प्ले स्टोर की लिंक से डाउनलोड कर सकते हैं।

जाने क्या है इसका फायदा :
इस एप का मकसद आधार डिटेल्स को शेयर करना आसान बनाना है। डिटेल्स को एनएफसी, क्यूआर कोड, बारकोड्स और ईमेल के द्वारा शेयर कर सकते है। इस तरीके से थर्ड पार्टी के साथ डेटा शेयर करने के बाद अगर यूजर को कोई भी दिक्कत आती है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी यूजर की होगी। आपको बता दें mAadhaar एप में बायोमेट्रिक अनलॉक फीचर भी मौजूद है। इससे यूजर्स का निजी डाटा पूरी तरह सुरक्षित रहता है। इसी के साथ इस एप में TOTP (Time-Based One-Time Password) प्रोसेस भी उपलब्ध है। इसको 'एसएमएस' आधारित OTP (One-Time Password) की जगह इस्तेमाल किया जा सकता है। जब आप नया सिम कार्ड खरीदने जाते हैं तो आपसे आधार कार्ड मांगा जाता है, लेकिन जब आप इस एप का इस्तेमाल करेंगे तो आधार कार्ड की हार्ड कॉपी की जरूरत ही नहीं होगी। आप इस एप के माध्यम से ही अपना आधार डेटा सर्विस प्रोवाइडर के साथ शेयर कर सकते हैं।

लेखक ई० विनोद एम० नागवंशी, इंजीनियर एवं युवा लेखक हैं, वे टेक्नोलॉजी,एजुकेशन, ट्रेवल और टूरिज्म पर लेख एवं रचनाये लिखते हैं। संपर्क: vinodnagwanshi09@gmail.com 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week