पाकिस्तान का लाड़ला आतंकी LoC पर ढेर, कश्मीर में कहर बरपाने आ रहा था

Tuesday, September 26, 2017

नई दिल्ली। भारत के सुरक्षा बल के सैनिकों ने आज LoC पर ऐसे खूंखार आतंकवादी को मार गिराया जो कश्मीर में कहर बरपाने के लिए आ रहा था। उस पर 10 लाख रुपए का इनाम था। उसने अब तक 50 से ज्यादा हत्याएं की हैं। पाकिस्तान में बैठे आतंकी सरगनाओं ने उसे कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर बनाकर भेजा था। मारे गए खूंखार आतंकवादी का नाम अब्दुल कयूम नजर है। मंगलवार सुबह लच्छीपोरा इलाके में घुसपैठ की कोशिश के दौरान मारा गया। बता दें कि कश्मीर में चल रहे आॅपरेशन आॅलआउट के कारण लश्कर कमांडर की जगह भी खाली चल रही है। आतंकवादी घाटी छोड़कर भाग रहे हैं और पाकिस्तान में बैठे आतंकवादी अब कश्मीर में घुसने की हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं। 

SSP हुसैन के मुताबिक, "ये सिक्युरिटी फोर्सेस के लिए बड़ी कामयाबी है। नजर 50 से ज्यादा हत्याओं में वांटेड था। सोपोर में पुलिस वाले की हत्या में भी उसकी तलाश की जा रही थी। उस पर 10 लाख रुपए का इनाम रखा गया था। अब्दुल कयूम को कश्मीर में हिजबुल कमांडर की खाली जगह संभालनी थी। उसे यहां संगठन को फिर से खड़ा करने की जिम्मेदारी दी गई थी।

कब से एक्टिव था?
कयूम 2003 में हिजबुल कमांडर अब्दुल माजिद डार की मौत के बाद टेररिस्ट बना था। कयूम पिछले 17 साल से एक्टिव था। 2015 में उसे हैंडलर्स ने पाकिस्तान अकुपाइड कश्मीर (PoK) वापस बुला लिया गया था।'

इस साल लश्कर-हिजबुल के 5 कमांडर
मई में सब्जार भट (हिजबुल): 27 मई को सिक्युरिटी फोर्सेज ने कश्मीर में 2 एनकाउंटर को अंजाम दिया था। एक रामपुर सेक्टर तो दूसरा त्राल में। इस दौरान आर्मी ने 10 आतंकी मार गिराए। त्राल के एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर सब्जार अहमद भट भी मारा गया था। सब्जार बुरहान वानी का उत्तराधिकारी था। बुरहान को सिक्युरिटी फोर्सेस ने पिछले साल 8 जुलाई को मार गिराया था।

सितंबर में अब्दुल कयूम (हिजबुल): 26 सितंबर को लाइन ऑफ कंट्रोल के पास लच्छीपोरा इलाके में अब्दुल कयूम नजर को सिक्युरिटी फोर्सेस ने घुसपैठ के दौरान मार गिराया। उसे यहां हिजबुल कमांडर का चार्ज संभालने भेजा गया था।

जून में जुनैद मट्टू (लश्कर):जून में सिक्युरिटी फोर्सेस ने साउथ कश्मीर के अरवानी गांव में एक और लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू समेत तीन आतंकियों को मार गिराया था। मट्टू कुलगाम के खुदवानी गांव का रहने वाला था। वह 3 जून 2015 को लश्कर में भर्ती हुआ था। पिछले साल जून में वह BSF की बस पर हुए हमले में शामिल था। मट्टू ने जून 2016 में अनंतनाग के एक बिजी बस स्टैंड पर दिन दहाड़े 2 पुलिसवालों को भी गोली मार दी थी।

अगस्त में अबु दुजाना (लश्कर): 1 अगस्त को कश्मीर के पुलवामा में सिक्युरिटी फोर्सेज ने एक एनकाउंटर में लश्कर के टॉप कमांडर अबू दुजाना को भी मार गिराया था। वह ए कैटेगरी का आतंकी था। उस पर 10 लाख का इनाम था। लश्कर ने 2013 में आतंकी अबू कासिम की मौत के बाद दुजाना को कमांडर बनाया था।

सितंबर में अबू इस्माइल: श्रीनगर में 14 सितंबर को सिक्युरिटी फोर्सेस ने लश्कर कमांडर अबू इस्माइल को मार गिराया था। अबू अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले का मास्टरमाइंड था। वह पाकिस्तान का रहने वाला था और 3 साल से कश्मीर में एक्टिव था। अनंतनाग अटैक में 5 महिलाओं समेत 7 अमरनाथ यात्रियों की मौत हो गई थी।

इस साल अब तक 145 आतंकी मारे गए
एक रिपोर्ट के मुताबिक इस साल अब तक कश्मीर में 144 आतंकी मारे जा चुके हैं। यह संख्या इस दशक में सबसे ज्यादा है। इससे पहले 2016 में 150 आतंकी मारे गए थे, लेकिन वो आंकड़ा पूरे साल का था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week