गुरूपूर्णिमा के दिन आश्रम में शिष्या का रेप: स्वामी कौशलेंद्र पर FIR

Thursday, September 21, 2017

जयपुर। राजस्थान के अलवर शहर में आश्रम बनाकर रहने वाले स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य जिन्हे फलहारी महाराज के नाम से पुकारा जाता है, पर आरोप है कि उन्होंने अपनी शिष्या का उस समय रेप किया जब वो गुरूपूर्णिमा के अवसर पर बाबा को अपनी पहली कमाई समर्पित करने आई थी। मामला छत्तीसगढ़ में दर्ज किया गया। केस डायरी अलवर भेजी गई। जैसे ही अलवर पुलिस एक्टिव हुई, बाबा की तबीयत खराब हो गई। वो एक प्राइवेट अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं। पुलिस बाहर पहरा दे रही है, ताकि बाबा फरार ना हो जाए। 

फलाहारी महाराज पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाले युवती छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की रहने वाली है। पीड़िता ने वहीं पर जीरो एफआईआर दर्ज कराई जिसके बाद राजस्थान की अलवर पुलिस बुधवार को हरकत में आई है। पीड़िता ने बिलासपर थाने में फलहारी महाराज के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया है। इसके बाद पीड़िता के 164 के बयान भी दर्ज हो चुके हैं। सीडीआर और कपड़ों की फर्द जप्ती (पार्चेजात) की कार्यवाही करवा कर केस डायरी अलवर भिजवा दी गई। अलवर पुलिस जब बाबा को गिरफ्तार करने गई तो वो आश्रम में नहीं मिले। खोजबीन की गई तो बाबा के अस्पताल में भर्ती होने का खुलासा हुआ है।

क्या है मामला
बिलासपुर की रहने वाली 21 साल की युवती ने आरोप लगाया है कि वो बाबा को अपना गुरु मानती थी और रक्षाबंधन के मौके पर जिंदगी की पहली कमाई गुरु को भेंट करने के लिए अलवर आई थी। आरोप है कि बाबा कौशलेंद्र महाराज ने लड़की को अपने कमरे में बुलाया और फिर उसे खाने के लिए प्रसाद दिया। प्रसाद खाने के बाद युवती बेहोश हो गई, जिसके बाद आरोपी बाबा ने युवती से रेप किया। सुबह होने पर पीड़ित किसी तरह आश्रम से भाग पाने में कामयाब हो पाई।

अपने साथ हुई ज्यादती से लड़की इतनी घबराई हुई थी कि उसमें काफी समय तक घटना की शिकायत करने की हिम्मत ही नहीं थी, लेकिन रेप केस में राम रहीम को सजा मिलने के बाद से लड़की को कुछ हिम्मत मिली और फिर उसने बिलासपुर में आरोपी बाबा के खिलाफ केस दर्ज कराया। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं