BALAGHAT: खुलेआम चोरी हो रही है सरकारी धान, मंत्री ने कहा शिकायत करो तभी जांच कराऊंगा

Tuesday, September 19, 2017

सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। यदि कोई अपराधी सरकारी संपत्ति को ​नुक्सान पहुंचा रहा है तो क्या उसके खिलाफ कार्रवाई और संपत्ति की सुरक्षा के लिए किसी आम नागरिक की शिकायत अनिवार्य होगी। बालाघाट के प्रभारी मंत्री शरद जैन की मानें तो शिकायत अनिवार्य है, नहीं तो जानकारी मिलने के बाद भी जांच नहीं होगी। मामला वेयर हाउस से खुलेआम चोरी हो रही धान का है। पत्रकारों के एक दल ने इसे पकड़ा और गोदाम प्रबंधक से लेकर कलेक्टर तक सबको बताया लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। चौंकाने वाली बात तो यह है कि जब पत्रकारों ने प्रभारी मंत्री को इसकी जानकारी दी तो मंत्री शरद जैन बोले आप लिखित शिकायत करो तभी जांच कराउंगा। 

बालाघाट जिले में समर्थन मूल्य पर खरीदी गई धान मध्यप्रदेश वेयर हाउस, लाजिस्टिक कारपोरेशन एवं निजि गोदामों में भण्डारित की गई राईस मिलर्स को कस्टम मिंलिग के लिये धान प्रदाय किये जाने का यह अंतिम दौर चल रहा है। इसकी आड़ में धान में आई सोख तथा शॉटेज नुकसानी बताकर धान की हेराफेरी कर राईस मिलर्स को बेची जा रही है। आरओ (रीलिज आर्डर) जारी बिना ट्रकों के माध्यम से जिले में तथा जिले के बाहर महाराष्ट्र के राईस मिलर्स को इस तरह अवैध रूप से धान बेचे जाने की जानकारी कुछ पत्रकारों को प्राप्त हुई थी जिसके आधार पर इलेक्ट्रानिक और प्रिंट मिडिया के पत्रकार जिले के कटंगी अनुविभाग मुख्यालय में स्थित सांई इण्डस्टीज पाथरवाडा पहुंचे। देखा गया की गोदाम से मार्ग पर खडे ट्रक तक पहुंच मार्ग ना होने से धान के बोरे बिछाकर गोदाम से धान निकालकर ट्रकों तक पहुंचाया जा रहा था करीब 8-10 ट्रक धान की डिलेवरी के लिये खडे हुये थे।

मीडिया के लोगों ने गोदाम प्रभारी बारेलाल कुमरे से पूछा की गोदाम से धान कहां ले जाई जा रही है इसका किस मिल को भेजा जा रहा है उससे संबंधित रिलिज आर्डर की प्रति दिखाये तो गोदाम प्रभारी ने कहा की रिलिज आर्डर की कापी गोदाम प्रबंधक एस के डेहरिया जी के पास है जब उससे पूछा गया की धान निकासी के लिये आवश्यक गेट पास कहां है तो वह कुछ जवाब नही दे पाया।

गोदाम के अंदर जिसकी क्षमता 2000 मैट्रिक टन बताई गई है, में धान को बिना ढंके रखा गया था। गोदाम की सतह पर लकडी के पाटे नही लगाये गये थे। धान के बोरों पर उसे सुरक्षित रखने के लिये आवश्यक औषधि का उपचार नही किया गया था। इस तरह धान के रखरखाव में लापरवाही बरती जा रही है। समूचे गोदाम में मात्र एक अग्नि सामक यंत्र रखा था जो कि उपयोग के काबिल नही था।

मीडिया ने कटंगी स्थित वेयर हाउस के प्रबंधक एस के डेहरिया से जब पूछा की पाथरवाडा के गोदाम से धान कहां ले जाई जा रही है कितनी मात्रा किस राईस मिल के नाम पर भेजा जाना है संबंधित रिलिज आर्डर की कापी बताये तो वे ना तो आरओ की कापी बताई ना ही उन्होने बताया की धान कहां ले जाया जा रहा है।

इस तरह धान की अफरा तफरी किये जाने की शिकायत जिला प्रबंधक पाटिल को कि गई तो उन्होने अवगत कराया की बिना रिलिज आर्डर के किसी भी गोदाम से धान नही ले जाया जा सकता। मेरे संज्ञान में आपने शिकायत लाई है मैं गोदाम प्रंबधक से जानकारी लेकर बता रहा हूं।
जिला प्रबंधक पाटिल ने क्षेत्रिय प्रबंधक सुरेश गोखे को कटंगी पाथरवाडा गोदाम से धान की अफरी तफरी किये जाने की जानकारी दी। शिकायत के बाद दूसरे दिन सुरेश गोखे कटंगी पहुंचे लेकिन मीडिया से नहीं मिले। 

धान की इस तरह की कथित हेराफेरी की शिकायत मीडियाकर्मियों ने जिला कलेक्टर श्री डीवी सिंग से की तो उन्होने चर्चा में स्वीकार किया की बिना रिलिज आर्डर के किसी भी गोदाम से धान नही ले जाई जा सकती मैं इसकी जांच करवा रहा हूं।

आज जिले के प्रभारी मंत्री श्री शरद जैन जिला योजना की बैठक में शामिल होने बालाघाट आये उनसे भी मीडिया के लोगों ने कटंगी के गोदाम में धान की हेराफेरी कर राईस मिलर्स को अवैध रूप से बेचने की जानकारी दी उन्हें वीडियो भी दिखाई तो उन्होने बेरूखी तौर पर कहा की आप इसकी लिखित शिकायत करें तो ही मैं मामले की जांच करवाउंगा। मीडियाकर्मियों ने मंत्री श्री शरद जैन से कहा की मीडिया का कार्य शिकायत करना नही है आपके संज्ञान में मामले को लाया गया है आप कार्यवाही करें।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week