मप्र: फसल बीमा का क्लैम 5 रुपए, किसानों के साथ भद्दा मजाक

Wednesday, September 20, 2017

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीहोर जिल से फसल बीमा योजना का शुभारंभ किया था। यहां किसानों को बीमा क्लैम स्वीकृत हो गए हैं। यह क्लैम राहत तो कतई नहीं कहे जा सकते, हां किसानों के साथ भद्दा मजाक जरूर कहा जा सकता है। एक किसान को 4 रुपए 70 पैसे का क्लैम स्वीकृत किया गया है। कुल 52 किसानों को 3061 रुपए का क्लैम स्वीकृत हुआ है। यानि एक किसान के हिस्से में औसत 59 रुपए आता है। सबसे ज्यादा धनराशि लालबाई के लिए स्वीकृत हुई है जो 194 रुपए 24 पैसे है। 

मामला सीएम के गृह ज़िले सीहोर का है। सीहोर में किसानों को राहत के नाम पर नाम मात्र की राशि मिल रही है। बुदनी के कई गांवों के किसान इस समय काफी परेशान हैं। ग्राम तिलाडिया के उत्तम सिंह के पास 0.809 हैक्टेयर जमीन है, इनको मात्र 17 रूपए 46 पैसे का फसल बीमा, और लाला बाई की ग्राम में सबसे ज्यादा राशि 194 रूपए 24 पैसे मिली है। इसका रकबा 9 हैक्टैयर है। 

पूरे गांव में 52 किसान हैं। इन सबको मिला देखा जाए तो 3 हजार 61 रूपए 50 पैसे का बीमा क्लेम मिला है। यदि औसत निकाला जाए तो प्रति किसान 59 रुपए से भी कम आता है। ऐसे में कैसे किसानों को बर्बाद फसल की लागत मिली होगी इसका अंदाज लगाया जा सकता है। बादामी लाल रहेटी को 4 रूपए 70 पैसे क्लेम स्वीकृत किया गया है।

ग्राम रहटी, मिलाडिया में ऐसे एक नही अनेक उदाहरण सामने है जिन्हे ऐसे कम राशि मिली है।
प्रधानमंत्री फसल बीमा की शुरूआत सीहोर से ही हुई थी। यहां ग्राम शेरपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आए थे और उन्होनें किसानों के हित में फसल बीमा योजना की शुरुआत की थी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week