मप्र के 452 एडिशनल एसपी और CSP/SDOP को हमेशा के लिए घर बिठाने की तैयारी

Thursday, September 28, 2017

भोपाल। प्रदेश पुलिस के अनफिट पुलिसकर्मियों को रिटायरमेंट देने के लिए गृह विभाग ने पहली बैठक की। इसमें राज्य पुलिस सेवा के 452 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और पुलिस उप अधीक्षकों के नाम सामने आए हैं। पुलिस मुख्यालय की तरफ से गृह विभाग को सूची सौंपी गई है, जिन्हें अब सर्विस रिकॉर्ड के आधार पर सेवानिवृत्ति दी जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पिछले कुछ दिनों में भ्रष्ट और अनफिट सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति देने की घोषणाएं की है। 

अनफिट या भ्रष्ट अफसरों को सेवानिवृत्ति देने के लिए गृह विभाग ने एक समिति बनाई है, जिसकी बुधवार को पहली बैठक थी। गृह विभाग ने पुलिस मुख्यालय से 20 साल की सेवा तथा 50 साल से ज्यादा की उम्र पार कर चुके एडिशनल एसपी व डीएसपी की जानकारी मांगी थी। सूत्रों के मुताबिक राज्य पुलिस सेवा के 452 अधिकारियों के नाम सामने आए हैं। बताया जाता है कि गृह विभाग सभी 452 अफसरों के सर्विस रिकॉर्ड को अब खंगालेगा। इनमें से भ्रष्टाचार की गंभीर शिकायतों, विभागीय जांचों व सर्विस के दौरान सजाओं के आधार पर रापुसे अधिकारियों की छंटनी की जाएगी।

2008 बैच के प्रमोशन का रास्ता साफ
सूत्रों के मुताबिक राज्य पुलिस सेवा के 2008 बैच के अधिकारियों की पदोन्न्ति का रास्ता भी साफ हो गया है। सूत्रों के मुताबिक गृह विभाग में इसके लिए बुधवार को बैठक हुई थी, जिसमें पात्र अधिकारियों को प्रमोशन देने पर सहमति बन गई है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week