जीत के 2 महत्वपूर्ण पाइंट: कोहली ने किया शिकार, धोनी ने की लूटपाट

Tuesday, September 19, 2017

नई दिल्ली। चेन्नई के चिन्नास्वामी स्टेडियम में हुई भारत की जीत का श्रेय यदि कंगारुओं के शिकारियों को दिया जाएगा तो धोनी के धुरंधर हार्दिक पांड्या को भी देना होगा। दरअसल यह कोहली और धोनी की साझा रणनीति का असर है। उधर कोहली ने कंगारुओं के शिकार की रणनीति बनाई तो इधर धोनी ने स्कोर बढ़ाने पर काम किया। यह धोनी की ही रणनीति का परिणाम था कि 215 पर सिमटती दिख रही टीम इंडिया 280 तक पहुंच गई। हार्दिक पांड्या ने  83 लूटे, उसके पीछे भी धोनी की रणनीति काम कर रही थी। जबकि खुद महेंद्र सिंह धोनी भी  79 रन छीन लाए थे। 

चेन्नई के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए पहले वन डे मैच में ऑस्ट्रेलिया को भारत ने डकवर्थ लुइस नियम के तहत 26 रनों से मात दी। इसी के साथ उसने पांच वनडे मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है। इस मैच को जिताने में धोनी और पांड्या की शानदार पारियों ने अहम भूमिका निभाई। दोनों आखिर तक शानदार खेल दिखाया, जिसके दम पर भारत ने 7 विकेट के नुकसान पर ऑस्ट्रेलिया को 281 रनों का टारगेट दिया, लेकिन बारिश के कारण बाधित मैच में ऑस्ट्रेलिया को नया टारगेट मिला और अब उन्हें जीत के लिए 21 ओवरों में 164 रन बनाने थे, लेकिन भारतीय गेंदबाजों के सामने 'कंगारू' चटपट शिकार होत चले गए। एक के बाद एक तेजी से विकेट गिरते गए और पूरे 21 ओवर खेलने के बाद 9 विकेट के नुकसान पर 139 रन ही बना सकी। इस सफल रणनीति विराट कोहली की थी। यहां पढ़ें

इस मैच के बाद हार्दिक पांड्या ने अपनी इस शानदार पारी का राज खोला। उन्होंने बताया कि किस तरह धोनी के 'प्लान' पर चलकर वे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 281 रनों का स्कोर खड़ा कर सके। पांड्या ने बताया कि धोनी लगातार उनकी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रणनीति बनाने में मदद कर रहे थे। बता दें कि मैच के 37वें ओवर में हार्दिक ने एडम जाम्पा के ओवर में एक चौके के बाद लगातार 3 छक्के जड़े। इस ओवर से 24 रन मिले।

मुश्किल परिस्थिति में शानदार बल्लेबाजी करने के बारे में पांड्या ने कहा कि, उस वक्त ऑस्ट्रेलिया मजबूत स्थिति में थी और हम पर बहुत दबाव था। हम काफी विकेट खो चुके थे। अब हमें एक बड़ी साझेदारी की जरुरत थी। धोनी और मैंने एक दूसरे से बातचीत की और आगे बढ़ते गए। पांड्या ने कहा, जब मैं और माही भाई बैटिंग कर रहे थे तो हम 230 का स्कोर को मानकर चल रहे थे, लेकिन मैंने स्कोर को 280 तक ले जाने की बात कही। हार्दिक पांड्या ने कहा कि, हमें ड्रेसिंग रूम में एमएस धोनी से हमेशा सीखने को मिलता है। उनके साथ खेलने के बाद दबाव होता है। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है और अब भी सीख रहा हूं।

कोहली ने की पांड्या की तारीफ
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली अपने निचले क्रम के बल्ले से निकल रहे रनों से खुश हैं। कोहली ने रविवार को ऑस्ट्रेलिया को पहले वनडे मुकाबले में हराने के बाद कहा कि वह टीम के हरफनमौला प्रदर्शन से खुश हैं। कोहली ने कहा, "यह अच्छा संकेत है कि हमारा निचला क्रम बल्ले से कमाल कर रहा है। हम हरफनमौला हो रहे हैं और इस कारण मैं बेहद खुश हूं।" कोहली ने कहा, "हमारी शुरुआत अच्छी नहीं थी। हमने इस पर भी चर्चा की। हमारे लिए यह सुखद जीत थी लेकिन हालात कठिन थे। महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव ने अच्छा खेल दिखाया। हार्दिक पांड्या की पारी शानदार रही। धोनी ने अपने अपने अंदाज में पारी का समापन किया।"

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week