मोदी का मंत्रिमंडल 1000 करोड़ की संपत्ति का मालिक

Monday, September 4, 2017

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में बदलाव के बाद अब जो नई लिस्ट सामने आई है। उसके अनुसार सभी मंत्रियों की कुल संपत्ति मिलाकर करीब 1000 करोड़ रुपए मूल्य आता है। औसत निकालें तो हर मंत्री के खाते में 12.5 करोड़ रुपए। पहले मंत्रिमंडल की औसत आयु 57 साल थी अब 60 हो गई है। हालांकि यह अभी भी मनमोहन सिंह की 65.3 औसत आयु वाले मंत्रिमंडल से कम ही है परंतु इस बार सीनियर सिटीजंस की संख्या काफी ज्यादा हो गई है। 

सबसे उम्रदराज हैं पासवान
मोदी सरकार के 43 मंत्रियों की उम्र 60 साल या इससे ज्यादा है। 
पीएम मोदी समेत सभी कैबिनेट मंत्रियों की औसत उम्र 59.19 साल है। 
मोदी की उम्र 66 साल है। 
वीरेंद्र सिंह और रामविलास पासवान की उम्र 71 साल। 
17 अन्य मंत्री 65 या ज्यादा साल के हैं। 
60 से 65 साल तक के 24 मंत्री हैं। 
50 या इससे ज्यादा उम्र के 20 मंत्री हैं।
50 साल से कम आयु के मात्र 12 मंत्री हैं। 
सबसे कम 36 साल की मंत्री अनुप्रिया पटेल हैं। 
इनके अलावा कैबिनेट में 7 और ऐसे मंत्री हैं, जिनकी उम्र 66 साल है।

संपत्ति का हिसाब किताब
मोदी कैबिनेट के 9 नए मंत्रियों में से 7 की कुल संपत्ति 36.36 करोड़ रुपए है। यानी इनकी एवरेज असेट्स 5.19 करोड़ है। दो मंत्री अभी सांसद नहीं हैं। इस कारण उनकी संपत्ति पब्लिक नहीं है। 
सबसे अमीर मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (14 करोड़) और सबसे कम संपत्ति (87 लाख) वीरेंद्र कुमार की है। 
पिछली मोदी कैबिनेट के 78 मंत्रियों की कुल असेट्स करीब 1009 करोड़ रु. थी। 
मौजूदा 76 में से 73 मंत्रियों की असेट्स 952 करोड़ और औसत 12.53 करोड़ है। 
पिछली कैबिनेट से 57 करोड़ रुपए कम।

मोदी कैबिनेट में 22% महिलाएं
76 सदस्यीय मोदी मंत्रिमंडल में 27 कैबिनेट मंत्री हैं। इनमें से छह महिलाएं हैं। यानी 22%। वैसे मंत्रिमंडल में 9 महिलाएं हैं। यानी 11.8%। जबकि यूपीए-2 सरकार में 77 मंत्रियों की मंत्रिपरिषद में सिर्फ 7 महिलाएं थीं।

21 मंत्रियों के खिलाफ केस, पिछली बार से तीन कम
पिछली मोदी कैबिनेट में 78 में से 24 मंत्रियों पर क्रिमनल केस चल रहे थे। इस नई कैबिनेट में 76 में से 21 मंत्रियों के खिलाफ क्रिमनल केस हैं। 7 नए मंत्रियों में से सिर्फ एक मंत्री खिलाफ क्रिमनल केस है। शिव प्रताप शुक्ला पर दो केस दर्ज हैं।

कौन कितना पढ़ा लिखा
48.7 प्रतिशत मंत्री ग्रेजुएट हैं। 
26.9 प्रतिशत मंत्री पोस्ट ग्रेजुएट हैं। 
17.9 प्रतिशत मंत्रियों ने स्कूल से बाद बढ़ाई नहीं की। 
5.1 प्रतिशत मंत्री डॉक्टरेट कर चुके हैं। 
13 मंत्री (17%) ब्यूरोक्रेट, आर्मी बैकग्राउंड और गैर राजनीतिक हैं।

मोदी ने शेखावत को 2 मिनट दिए थे, 30 सेकंड जीता दिल
मंत्री बनाए गए नौ नए चेहरों में शामिल गजेंद्र सिंह शेखावत क्षेत्र की समस्या लेकर मोदी के पास गए थे। दो मिनट का वक्त मिला, पर 30 सेकंड में ही बात पूरी कर दी। मोदी ने पूछा तो सोशल मीडिया के जरिये यंगस्टर्स को जोड़कर नए भारत निर्माण की योजना बताई। मोदी करीब सात मिनट तक उन्हें सुनते रहे। उसी शाम पीएमओ से फोन आया। बाद में प्रजेंटेशन के दौरान वे मोदी की निगाह में आए। कोरा पर शेखावत के 55,600 फॉलोअर हैं। ओबामा भी उनसे पीछे हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week