पिनेकल घोटाला: जांच करने वाले TI के खिलाफ जांच शुरू

Saturday, August 19, 2017

इंदौर। पिनेकल घोटाले में एफआईआर से हाईप्रोफाइल दलालों के नाम हटाने के मामले में एसपी ने टीआई की भूमिका पर जांच बैठा दी है। उधर, फरार आरोपियों पर इनाम घोषित करने व पासपोर्ट रद्द करने के लिए भी पत्र लिखे गए हैं। पिनेकल ग्रुप के कर्ताधर्ता आशीष दास और पुष्पेंद्र पडेरा पर 500 करोड़ से अधिक की धोखाधड़ी का आरोप है। दोनों के खिलाफ विजय नगर और लसूड़िया थाने में तीन मामले दर्ज हैं। विजय नगर थाने में दर्ज एक प्रकरण में आशीष और पुष्पेंद्र के साथ दलाल गिरीश वाधवानी व सागर भी शामिल थे, लेकिन टीआई ने फरियादी अंकुर महेते पर दबाव बनाकर दोनों के नाम हटा दिए। 

मामले की भनक लगते ही एसपी (पूर्व) अवधेश गोस्वामी ने टीआई एसके दास को फटकार लगाई। अंकुर के मुताबिक उन्होंने डेढ़ वर्ष पूर्व 19 लाख रुपए में पालाखेड़ी स्थित पिनेकल डिजायर में 1640 वर्गफीट का प्लॉट खरीदा था। यह सौदा गिरीश और सागर के जरिये ही हुआ था। सागर ने प्रलोभन दिया और डील करवाई, लेकिन टीआई ने उनके खिलाफ एफआईआर करने से इंकार कर दिया। एसपी के मुताबिक मामले की सीएसपी से जांच कराई जा रही है।

दलाल तो नासमझ है, केस नहीं बनता
अंकुर ने 25 जुलाई को डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र को गिरीश, सागर, आशीष और पुष्पेंद्र के खिलाफ शिकायत की थी। पुलिस ने 2 अगस्त को आशीष और पुष्पेंद्र पर केस दर्ज कर लिया और फरियादी से कहा दलाल तो नासमझ हैं। उनके खिलाफ केस नहीं बनता। टीआई ने दोनों के नाम एफआईआर से हटा दिए।

लसूड़िया थाने की भूमिका संदिग्ध
मामले में अफसर लसूड़िया थाने की भूमिका भी संदिग्ध मान रहे हैं। दो महीने पूर्व डीआईजी ने गुवाहाटी के आर्मी अफसर को थाने भेजा था। केस दर्ज करवाने के पूर्व आरोपियों ने अफसर को ऑफिस बुलाया और 22 लाख का चेक दे दिया। अफसरों को शक है कि थाने का वरिष्ठ अफसर ही भूमाफियाओं को गोपनीय जानकारी मुहैया करवाता है।

पासपोर्ट रद्द करने व इनाम के लिए लिखा पत्र
आरोपियों की तलाश में छापे मारे जा रहे हैं। उनके ऑफिस सील कर दिए हैं। पासपोर्ट रद्द करने के लिए पत्र लिखा गया है। प्लॉट व फ्लैट की रजिस्ट्री पर रोक लगाने के लिए रजिस्ट्रार ऑफिस को भी सूचित कर दिया। शुक्रवार को तीनों मामलों की रिपोर्ट बनाकर इनाम घोषित करने के लिए पत्र लिखा गया है।
अवधेश गोस्वामी, एसपी (पूर्व)

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं