PEB का सॉफ्टवेयर खराब: फिंगरप्रिंट मैच नहीं हो रहे, बड़ा विवाद

Wednesday, August 30, 2017

भोपाल। पीईबी (प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड) के सॉफ्टवेयर में बड़ी खामी सामने आई है। कोई इरर है जिसके कारण अभ्यर्थियों के फिंगरप्रिंट मैच नहीं हो पा रहे हैं। कभी यह सॉफ्टवेयर ठीक काम करता है तो कभी खराब हो जाता है। इसका खामियाजा पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा-2017 के अभ्यर्थियों को भुगतना पड़ रहा है। रोजाना 200 उम्मीदवार तकनीकी गड़बड़ी के कारण परीक्षा से वंचित हो रहे हैं। सबकुछ सही होने के बाद भी उन्हे परीक्षा कक्ष से भगा दिया जाता है। अब यह एक बड़ा मामला बन गया है। यदि हालात नियंत्रित नहीं किए गए तो कोई बड़ा प्रदर्शन भी हो सकता है। 

यूआईडी के सर्वर, पीईबी के सॉफ्टवेयर और एमपी ऑनलाइन के सर्वर में फीड फिंगरप्रिंट का डाटा मिसमैच होने के कारण यह समस्या आई है, लेकिन पीईबी के अफसर अपनी गलतियों पर पर्दा डालने में लगे हुए हैं। हर रोज पीईबी दफ्तर में औसत 20 शिकायतें फिंगरप्रिंट मैच नहीं होने के कारण परीक्षा से वंचित होने की आ रही हैं। इतना ही नहीं, उम्मीदवारों से परीक्षा केंद्रों पर बदसलूकी तक की जा रही है। इससे परेशान कई उम्मीदवारों ने पीईबी मुख्यालय पहुंचकर लिखित आपत्ति दर्ज कराई है। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश पुलिस में 7771 आरक्षकों की भर्ती के लिए एक ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की जा रही है। यह परीक्षा दो पालियों में 19 अगस्त से शुरू हो गई है जो 18 सितंबर तक चलेंगी। 

इन केंद्रों पर हो रही है परीक्षा: 
भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम, नीमच, मंदसौर, सागर, सतना, खंडवा, गुना, दमोह, सीधी, कटनी। 

राजधानी में 26 केंद्रों पर हो रही है पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा राजधानी में 26 केंद्रों पर दो पालियों में परीक्षा आयोजित हो रही है। भोपाल में 19 अगस्त को पहले दिन ही 50% परीक्षार्थी फिंगरप्रिंट मिसमैच के कारण परीक्षा नहीं दे पाए थे। 

सिर्फ 19 जून वालों को दूसरा मौका देंगे 
डाटा एमपी ऑनलाइन के जरिए दर्ज हुआ है। यही डाटा हमारे सिस्टम में फीड है। इसका सत्यापन आधार के यूआईडी सर्वर से होता है। फिंगरप्रिंट मिसमैच किस लेबल पर हो रहे हैं, इसके बारे में स्पष्ट कुछ नहीं कहा जा सकता है। 19 जून को जो उम्मीदवार परीक्षा से वंचित रहे, उन्हें दूसरा मौका दिया जाएगा क्योंकि अटेंडेंस 50% से कम थी, लेकिन इसके बाद वालों को हम कोई मौका नहीं देंगे क्योंकि हर सेंटर से 82 से 84% अटेंडेंस प्रॉपर आ रही है। 
एकेएस भदौरिया, परीक्षा नियंत्रक, पीईबी 

क्या कहते हैं पीड़ित 
मैं डेढ़ साल से पुलिस में भर्ती की तैयारी कर रहा हूं। मेरे हर दस्तावेज सही हैं, लेकिन पीईबी के सिस्टम में मेरे आधार नंबर की डिटेल से फिंगरप्रिंट मैच नहीं हो रहे हैं। इस कारण मैं परीक्षा नहीं दे पाया। दो माह बाद एसआई की परीक्षा है, उसमें भी ऐसा ही हुआ तो मेरे साथ अन्याय होगा। 
सौरभ सिंह सोलंकी 

पुलिस में भर्ती होने का मेरे पास आखिरी मौका है। इसके बाद मैं ओवरेज हो जाऊंगा, लेकिन पीईबी ने मुझसे यह हक भी छीन लिया है। पीईबी के सॉफ्टवेयर में खामी के कारण फिंगरप्रिंट मैच नहीं होने से मैं परीक्षा नहीं दे पाया। शिकायत की तो कहा गया कि एग्जाम रीशेड्यूल हुआ तो मौका देंगे। 
आकाश मिश्रा 

परीक्षा हॉल से उठाकर भगाया 
दीपक जैसवाल 28 अगस्त को गांधी नगर स्थित सागर कॉलेज में परीक्षा देने पहुंचे। केंद्र में उनके दस्तावेज चैक किए गए, लेकिन परीक्षा हॉल में फिंगरप्रिंट मिसमैच बताकर उन्हें बाहर कर दिया गया। दीपक इससे पहले व्यापमं की दो परीक्षाएं दे चुका है, लेकिन कभी ऐसा नहीं हुआ। वह परीक्षा हॉल से उठाकर भगा देने से खुद को अपमानित महसूस कर रहा है। 

धक्का मारकर बाहर निकाल दिया 
आकाश मिश्रा 26 अगस्त को रायसेन रोड स्थित एनआरआई कॉलेज में ऑनलाइन परीक्षा देने पहुंचे। आधार नंबर दर्ज करने के बाद उन्हें परीक्षा केंद्र पर एंट्री मिली, लेकिन फिंगरप्रिंट मैच नहीं हुए तो कॉलेज स्टाफ ने मिश्रा को धक्का मारकर बाहर कर दिया। आकाश ने इसकी लिखित शिकायत पीईबी परीक्षा नियंत्रक से की है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week