MOBILE पर बात कर रही लड़की को पुलिस ने सरेआम बेरहमी से पीटा

Wednesday, August 16, 2017

नालंदा। यहां आम रास्ते पर फोन से बात कर रही एक लड़की पर एक पुलिस अधिकारी ने हमला बोल दिया। उसने सबके सामने लड़की को बेरहमी से पीटा। आरोपी पुलिस अधिकारी का नाम एसपीओ धनंजय कुमार है। इन अधिकारियों की बहाली बिहार सरकार ने नक्सल प्रभावित इलाकों में की है। पुलिस अधिकारी ने लड़की को बाल पकड़कर घसीटा। मौके पर महिला पुलिस नहीं थी। लोग पूरे घटनाक्रम को तमाशबीन बने देखते रहे। एसपीओ ने उसका फोन छीन लिया और कहने लगा कि तुम गलत कैरेक्टर की हो। 

यह घटना नालंदा जिले के परवलपुर थाना क्षेत्र के बड़ी मठ के पास एनएच 110 पर घटी। सरेआम पिटाई और बेइज्जती होने पर लड़की फूट-फूट कर रो रही थी। बाल पकड़कर घसीटे जाने के बाद वह सड़क पर बैठ गई और छोड़ देने की गुहार लगाने लगी, लेकिन धनंजय पर इसका कोई असर नहीं हुआ। वह बेरहमी से लड़की को पीटता रहा। लड़की की सरेआम पिटाई होता देख गांव के लोग जमा हो गए, लेकिन कोई धनंजय को रोकने की हिम्मत नहीं जुटा रहा था। 

तमाशा देख रहे सभी लोग उसके एसपीओ होने से डर रहे थे। कुछ युवक तो उल्टे धनंजय का हौसला बढ़ा रहे थे। इस दौरान एनएच पर चल रही कई गाड़ियां रुकी, कोई इन गाड़ियों से उतरकर लड़की की मदद करता इससे पहले धनंजय दबंगई दिखाते हुए उसे आगे जाने को कह देता। काफी देर तक पीटने और गालियां देने के बाद धनंजय ने लड़की को घर जाने दिया।

सरेआम लड़की को गालियां दे रहा था
चरित्र पर अंगुली उठाकर लड़की को सरेआम पीटने वाला धनंजय खुद कितना सभ्य है यह इस घटना के वीडियो में दिख रहा है। वह लड़की को पीटने और घसीटने के साथ गालियां दे रहा था। लड़की ने जब उसे अपनी मां बहनों की दुहाई दी तो वह और भड़क गया। वीडियो मीडिया में आने के बाद एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने धनंजय को एसपीओ के पद से बर्खास्त कर दिया है और उसके खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है।

एसपीओ था धनंजय
लड़की को सरेआम पीटने वाला धनंजय बिहार पुलिस का कर्मी था। वह एसपीओ (स्पेशल पुलिस ऑफिसर) था। गौरतलब है कि बिहार में नक्सल प्रभावित जिलों में एसपीओ की बहाली गई है। एसपीओ गांव के लोगों को नक्सलियों की खबर देने के लिए बनाया जाता है। धनंजय नक्सलियों की खबर देने की जगह गांव में अपनी रौब दिखाने के ज्यादा व्यस्त रहता था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week