DPRK से दोस्ती रखने वाले चीन और रूस के 16 कारोबारियों पर अमेरिका में प्रतिबंध

Wednesday, August 23, 2017

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया से दोस्ती गांठने वाले चीन और रूस के 16 कारोबारियों एवं उनकी कंपनियों पर अमेरिका ने प्रतिबंध लगा दिया है। इसके साथ ही अमेरिका ने स्पष्ट कर दिया है कि दुनिया का जो भी देश, कंपनी या कारोबारी उत्तर कोरिया से संबंध रखेगा, अमेरिका उससे अपने संबंध तोड़ लेगा। बता दें कि चीन का उत्तर कोरिया के प्रति काफी नरम रुख है। उसने अमेरिका को धमकी दी है कि यदि अमेरिका ने हमला किया तो उत्तर कोरिया के साथ मिलकर वो हमले का जवाब देगा। 

अमेरिका के राजकोष मंत्री स्टीवन म्नुचिन ने क कहा है, 'चीन और रूस या अन्य कहीं के व्यक्तियों और लोगों का उत्तर कोरिया का समर्थन करना मंजूर नहीं है। उत्तर कोरिया को आय जुटाने और उसका इस्तेमाल व्यापक विनाश का हथियार विकसित करने और क्षेत्र में अस्थिरता कायम करने में मदद को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।'

अमेरिक प्रतिबंध की देखरेख करने वाले अमेरिकी राजकोष विभाग ने कहा है कि प्रतिबंध के दायरे में आए लोग उत्तर कोरिया और उसके बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम का समर्थन करने वालों को जानते हैं। ऐसे लोगों ने उस देश के ऊर्जा व्यापार में हिस्सा लिया है। इन लोगों ने उत्तर कोरियाई कामगारों का दोहन करने या वहां के उद्यमों को अंतरराष्ट्रीय वित्तीय प्रणाली से संपर्क साधने में मदद की।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week