बच्चों के सामने मां के साथ रंगरलियां मनाता था: हत्या का राज

Monday, August 21, 2017

नई दिल्ली। फरीदाबाद में ओला कैब ड्राइवर की हत्या का राज खुल गया है। उसकी लावारिस लाश मिली थी। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि ओला कैब ड्राइवर के एक अन्य महिला से भी संबंध थे। वो उस महिला के बच्चों के सामने ही महिला के साथ अश्लील हरकतें किया करता था। नशे में धुत होकर घर में बच्चों के सामने मनमानी करता था। महिला को कोई आपत्ति नहीं थी परंतु उसके बेटों को यह मंजूर नहीं था अत: उन्होंने योजनाबद्ध तरीके से ओला कैब ड्राइवर की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। 

गौरतलब है कि गुरुवार को पुलिस को फरीदाबाद की डबुआ काॅलोनी इलाके में एक खड़ी कैब में डेड बॉडी पड़ी होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने डेड बाॅडी को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाते हुए मामले की जांच शुरू कर दी थी। मृतक की पहचान सैनिक कॉलोनी के राजकुमार के रूप में हुई थी, जिसके साले अमरजीत ने पुलिस को बताया था कि उसने अपनी कार ओला कैब कंपनी के तहत रजिस्टर्ड करवा रखी थी। रोजाना की तरह बुधवार सुबह 11 बजे घर से निकला था। रात 10 बजे मृतक ने घर पर फोन करके जल्दी घर लौटने की बात कही थी। इस पर उसकी पत्नी ने घर आते समय दूध और फ्रूट लाने को कहा था, लेकिन 11 बज जाने के बाद भी वह घर नहीं लौटा। इसके बाद परिजनों ने फोन पर संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन फोन बंद आ रहा था। परिजन रात के डेढ़ बजे तक संपर्क करने में लगे रहे, लेकिन फोन स्विच अॉफ ही आ रहा था। राजकुमार की हत्या की खबर उन्हें सुबह साढ़े सात बजे मिली।

गले पर किए गए थे 14 वार
जब परिजन मौके पर पहुंचे तो निर्मम हत्या देखकर उनके होश उड़ गए। परिजनों ने बताया कि तेजधार हथियार से मृतक के गले पर 14 वार किए गए थे। इसके अलावा छाती और पेट पर भी वार किए गए थे। उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा की आखिरकार किसने क्यों और किस मकसद से राजकुमार की निर्मम हत्या की है।

पुलिस के मुताबिक हालात देखकर ऐसा लग रहा था, जैसे राजकुमार की हत्या कहीं और करके गाड़ी समेत उसे यहां छोड़कर हत्यारे फरार हो गए। दो दिन पहले हुई हत्या की मिस्ट्री को शनिवार को सीआईए ने सुलझा लिया और इस मामले में दो जुड़वां भाइयों व उनके दो दोस्तों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक नाबालिग भी है।

ऐसे पहुंची पुलिस आरोपियों तक
पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू की तो राजकुमार की पत्नी स्वर्णा ने बताया कि उसका पति अक्सर न्यू जनता कॉलोनी में रहने वाली एक महिला के घर आता-जाता था। शुक्रवार सुबह पुलिस जब उस महिला के घर पहुंची और पूछताछ की तो महिला के दो बेटे घर से गायब थे। पुलिस जैसे-तैसे महिला के बच्चों राहुल और रोहित तक पहुंची।

क्यों और कैसे की हत्या?
केस की गुत्थी सुलझाने वाले सब इंस्पेक्टर नरेंद्र ने बताया कि आरोपियों की 45 वर्षीय मां फेसबुक यूजर है। छह महीने पहले उसकी मां और राजकुमार के बीच दोस्ती हो गई। दोस्ती होने के बाद राजकुमार मिलने के लिए उनके घर आने लगा। बच्चों के मुताबिक, अक्सर वे अपनी मां और राजकुमार को बेडरूम में अकेले देखते थे। उन्होंने मां को समझाया, लेकिन इसके बावजूद राजकुमार आता-जाता रहा। राजकुमार ने हदें पार करनी शुरू कर दी। शराब के नशे में जबरदस्ती महिला को बेडरूम में खींच ले जाता था। बुधवार रात भी ऐसा हुआ तो उनसे यह बात बर्दाश्त नहीं हुआ। दोनों ने अपने दोस्त अरविंद्र और एक अन्य नाबालिग दोस्त को बुलाया। रात को 11 बजे जैसे ही राजकुमार घर से बाहर निकला, चारों ने उसे दबोच लिया। उस पर ईंट, गुप्ती और चाकू से हमला कर दिया। हत्या कर शव उसकी कार में पिछली सीट पर पटका और गाड़ी नेस्टर कंपनी के पास छोड़कर फरार हो गए।

पत्नी को पहले से था मौत का शक, रोकती थी जाने से
राजकुमार अपनी टैक्सी लेकर बुधवार सुबह घर से निकला था। रात को 10 बजे वह डबुआ सब्जी मंडी पहुंचा और पपीता खरीदा। उस वक्त उसकी बात अपनी पत्नी स्वर्णा से हुई तो 10 मिनट में घर पहुंचने की बात कही थी, लेकिन शराब पीने के कारण वह अपने घर न जाकर न्यू जनता कॉलोनी में अपनी प्रेमिका के घर जा पहुंचा। स्वर्णा की मानें तो उसके पति ने अपना फोन भी बंद कर लिया। स्वर्णा ने जब दोबारा फोन मिलाया और वह बंद मिला तो उसे तभी शक हो गया था कि उसका पति फिर न्यू जनता कॉलोनी में पहुंच गया है। दरअसल स्वर्णा अपने पति को वहां जाने से रोकती थी। राजकुमार ने अपने पैसों से एक कार और एक स्कूटी भी न्यू जनता कॉलोनी में दे रखी थी। वह गैर महिला पर खूब खर्च करता था।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week