BIHAR में बाढ़ के डर से पेड़ों पर रह रहे हैं लोग

Thursday, August 3, 2017

पटना। बिहार से एक अजीबो-गरीब खबर सामने आ रही है। भागलपुर जिले में बागड़ के ग्रामीण बाढ़ से इतनी बार परेशान हो चुके हैं कि उन्होंने इसका दिलचस्प हल निकाल लिया है। अब वे जमीन की बजाय पेड़ों पर घर बना रहे हैं। बाढ़ प्रभावित इस जिले के लोग पेड़ों पर रहने जा रहे हैं क्योंकि अभी इसका खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। इस गांव में रहने वाले करीब 100 परिवार पिछले साल बाढ़ से हुई तबाही को भूले नहीं हैं। तब उफनती गंगा मिट्टी और लकड़ियों के बने इन ग्रामीणों के घरों को अपने साथ बहा ले गई थी। तब से वे पेड़ों पर ही रहने को मजबूर हैं।

वे सभी गरीब महादलित और आदिवासी समुदायों से संबंधित हैं और रोजगार के रूप में दिहाड़ी मजदूरी करके अपनी जरूरतों को पूरा करते हैं। भारी बारिश और अफनती गंगा ने उन्हें फिर से डरा दिया है। इसके कारण वे अपने सभी सामान लेकर पेड़ों में रहने के लिए चले गए हैं।

वे पेड़ों की अलग-अलग शाखाओं में बांस बांधकर उसके ऊपर रहने की व्यवस्था कर रहे हैं। बारिश के पानी से बचने के लिए उन्होंने सिर के ऊपर तिरपाल लगा ली है। उन्हें दूसरी जगह बसाने का आश्वासन दिए जाने के बावजूद प्रशासन उन्हें वहां से हटाने या उन्हें मकान बनाने में मदद करने में विफल हो गया है। एक ग्रामीण ने कहा कि हम भूमिहीन लोग हैं और हमें भूमि के पट्टे मिलने चाहिए थे।

मगर, अब तक कुछ नहीं हुआ है। हम पेड़ों में बदलाव करने के लिए मजबूर हैं। हालांकि, आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी अम्लेंदु कुमार ने बताया कि सभी प्रभावित परिवार सबौर ब्लॉक ऑफिस में शिफ्ट हो सकते हैं, जो गांव से महज एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हमने इस इमारत को बेघर लोगों की शेल्टर के रूप में बदल दिया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week