BHOPAL: चलती मैजिक वेन में महिला के साथ गैंगरेप, पुलिस ने मामला छुपाया

Thursday, August 24, 2017

भोपाल। राजधानी में 14 अगस्त को जबकि सारे शहर में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था का दावा किया गया था, एक महिला का चलती मैजिक वेन में गैंगरेप किया गया। वेन सुभाष नगर से शहर के कई मार्गों पर होती हुई जिंसी पहुंची यहां तीसरा बदमाश वेन में सवार हुआ। चलती वेन में महिला के साथ झूमाझटकी की गई। उसे काबू किया गया। फिर भेल स्थित धनवंतरी पार्क ले जाया गया जहां गैंगरेप किया गया। चौंकाने वाली बात तो यह है कि महिला पुलिस थाने ने 14 अगस्त को हुई वारदात 9 दिन तक छिपाए रखा। स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाया, फिर अमित शाह का दौरा समाप्त होने का इंतजार किया। फिर आरोपियों की धरपकड़ की गई। जब सभी आरोपी पकड़ लिए गए तब पुलिस ने माना कि गैंगरेप हुआ है। 

महिला थाना टीआई शिखा बैंस के अनुसार रातीबढ़ की रहने वाले एक 26 वर्षीय महिला की शादी हाथरस में हुई है। कुछ दिन पहले एक हादसे में पति के मौत के बाद वह अपने मायके आ रही थी। 14 अगस्त को सुबह दस बजे वह भोपाल स्टेशन पर उतरी। जहां से उसको रातीबढ़ अपने मायके जाना था। उसने स्टेशन के बाहर बस में सवार हुई और सुभाष नगर फाटक के पास उतर गई।

जहां से वह एक मैजिक सवारी वाहन में सवार हो गई। उसमें और भी सवारियां बैठी थीं। अन्य सवारियों को उतारने के बाद ड्राइवर बिलाल और कंडक्टर समीर महिला को पूरे शहर में इधर- से उधर लेकर घूमते रहे। इस दौरान महिला ने उनको वाहन रोकने के लिए बोला, लेकिन आरोपियों ने उसकी एक नहीं सुनी और जिंसी चौराहे से दोनों ने अपने एक और साथी आसिफ को भी मैजिक वाहन में बिठा लिया। दोपहर करीब सवा 12 बजे तीनों महिला को लेकर भेल स्थित धनवंतरी पार्क पहुंचे।

पार्क के किनारे गाडी लगाने के बाद तीनों ने बारी-बारी से उसके साथ ज्यादती की। इस बीच हुई झूमाझटकी में महिला का मोबाइल फोन मैजिक में ही गिर गया। वारदात के बाद आरोपियों ने उसे जिंसी चौराहे पर छोड़ा और भाग निकले। एक राहगीर से मदद लेकर वह अपने परिजनों के पास घर पहुंची। जहां उन्होंने पूरा घटनाक्रम बताया। उसी दिन पीड़िता ने महिला थाना पहुंचकर पूरा घटनाक्रम बताया।

आरोपियों ने कबूला सामूहिक दुष्कर्म
महिला ने अपने माता-पिता को पूरा वाकया बताया फिर महिला थाने पहुंची। महिला ने पुलिस को बताया था कि तीन में से एक आरोपी ने ही उसके साथ ज्यादती की है। इस बीच आरोपियों में शामिल समीर ने महिला के मोबाइल फोन में अपना सिमकार्ड अटैच कर दिया। क्राइम ब्रांच ने इसे ट्रैक कर समीर और बिलाल को पकड लिया। दोनों की निशानदेही पर पुलिस ने आसिफ को भी गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से हुई पूछताछ में तीनों ने बारी-बारी से वारदात करना कबूल कर लिया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week