अमेरिका की सेनाएं उत्तर कोरिया पर हमले के लिए तैयार, चीन क्या करेगा

Friday, August 11, 2017

वॉशिंगटन। उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच चल रहा तनाव युद्ध के मुहाने पर आ चुका है। अमेरिका की सेनाएं उत्तर कोरिया पर हमले के लिए पूरी तरह तैयार घोषित कर दी गईं हैं। अब यदि उत्तर कोरिया ने एक भी गलती की तो अमेरिका हमला कर देगा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को उत्तर कोरिया को खुली धमकी दी है। ट्रम्प ने कहा- इस मामले का सैन्य हल (हमला) निकालने की हमने पूरी तैयारी कर ली है। सारी चीजें तैयार हैं। उम्मीद है कि अब किम जोंग उन (नॉर्थ कोरिया के तानाशाह) को दूसरा रास्ता खोजना पड़ेगा। इस मामले में चीन उत्तर कोरिया का साथ दे रहा है। उसका कहना है कि यदि अमेरिका ने हमला किया तो वो उत्तर कोरिया के साथ मिलकर अमेरिका से लड़ेगा।  

न्यूज एजेंसी के मुताबिक ट्रम्प ने कहा है, "अगर नॉर्थ कोरिया अमेरिका के साथ कुछ करता है तो उसे गंभीर नतीजे भुगतने होंगे। वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो वह ऐसी परेशानी में होगा जैसी बहुत ही कम देशों ने अब तक झेली है। ट्रम्प ने कहा कि चीन, नॉर्थ कोरिया के मुद्दे पर बहुत कुछ कर सकता है। बता दें कि नॉर्थ कोरिया के एटमी प्रोग्राम को आगे बढ़ाने की वजह से यूएन (संयुक्त राष्ट्र) ने उस पर नए आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं।

नॉर्थ कोरिया को हमसे घबराना चाहिए
ट्रम्प ने न्यू जर्सी के बेडमिंस्टर स्थित अपने समर वेकेशन होम में मीडिया से गुरुवार को बातचीत की। यह पूछने पर कि क्या अमेरिका नॉर्थ कोरिया पर पहले परमाणु हमला कर सकता है तो ट्रम्प ने कहा, "मैं इस बारे में बात नहीं कर रहा, मैंने कभी ऐसी बात नहीं की है लेकिन अगर नॉर्थ कोरिया हम पर, हमारे किसी मित्र देश पर, हमारा प्रतिनिधित्व करने वालों पर या किसी सहयोगी पर हमला करने के बारे में सोचता भी है तो उसे बहुत-बहुत घबराना चाहिए क्योंकि उसका वो अंजाम होगा जो उसने कभी सोचा भी नहीं होगा।

पहले क्या कहा था ट्रम्प ने?
यूएस प्रेसिडेंट ने कहा कि नॉर्थ कोरिया को लेकर उनके बयान बहुत ज्यादा सख्त नहीं हैं। बता दें कि ट्रम्प ने 8 अगस्त को कहा था कि नॉर्थ कोरिया अमेरिका को धमकियां देना बंद करे। अगर उसने ऐसा नहीं किया तो उसे जलाकर खाक कर देंगे। उस पर इतनी गोलीबारी करेंगे कि दुनिया ने वैसा पहले कभी नहीं देखा होगा। इससे पहले नॉर्थ कोरिया ने कहा था कि वह अगस्त के मध्य तक एडमिनिस्ट्रेटिव तौर पर अमेरिका के अधीन पैसिफिक ओशेन (प्रशांत महासागर) के वेस्ट में स्थित गुआम आइलैंड पर मिसाइल हमले कर सकता है। गुआम में अमेरिका का आर्मी बेस है।

चीन ने क्या कहा?
चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अपने एडिटोरियल में ये भी कहा है, "अगर नॉर्थ कोरिया ने अब मिसाइल लॉन्च किए, जो अमेरिका और उसके सहयोगियों को धमकी होगी तो ऐसी स्थिति में चीन तटस्थ रहेगा। अगर अमेरिका और साउथ कोरिया ने हमले किए और नॉर्थ कोरियाई शासन को खत्म करने और कोरियाई पेनिनसुला के पॉलिटिकल पैटर्न को बदलने की कोशिश की तो चीन उन्हें ऐसा करने से रोक देगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week