जैन मुनि नयपद्मसागर, मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर जैसा घिनौना आदमी: शिवसेना

Wednesday, August 23, 2017

मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने जैन मुनि नयपद्मसागर को एक घिनौना आदमी करार दिया है। उन्होंने कहा कि जैन मुनि नयपद्मसागर और मुस्लिम धर्म प्रचारक जाकिर नाइक एक जैसे हैं। शिवसेना ने जैन मुनि नयपद्मसागर पर धर्म के नाम पर वोटों का ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मीरा-भायंदर नगरपालिका चुनाव में भाजपा 'मनी ओर मुनी' के कारण जीती है। बता दें कि इस चुनाव में जैन मुनि ने अपील की थी कि वो शाकाहार के समर्थन में भाजपा को वोअ दें। उन्होंने दावा किया कि उनकी अपील के कारण 30 हजार वोट भाजपा को मिले हैं। 

क्या है मामला
महाराष्ट्र में मीरा-भायंदर महानगरपालिका चुनाव प्रचार के दौरान सीएम फडणवीस ने जैन गुरु से मुलाकात कर उनसे पर्यूषण पर्व के दौरान 8 दिनों तक मीट की दुकानें बंद करवाने का वादा किया है। इसके बाद जैन मुनि नयपद्मसागर का एक वीडियो संदेश सामने आया जिसमें वो जैन समाज से अपील कर रहे थे कि मांसाहार को बढ़ावा देने वालों को वोट ना दें, बल्कि शाकाहार का समर्थन करने वाली भाजपा को वोट दें। 

जैन गुरु नयपद्मसागर ने कहा कि वह पूरी तरह आश्वस्त हैं कि मीरा-भायंदर चुनाव में करीब 30,000 जैन मतदाओं ने बीजेपी के पक्ष में वोट डाले हैं। उन्हें पूरा भरोसा है कि बीजेपी अगर जीती तो यहां 8 दिनों तक मांस की दुकानें बंद रहेंगी। उन्होंने कहा, पीएम मोदी शुद्ध शाकाहारी हैं, उनकी जीवन शैली ने मुझे प्रभावित किया है इसीलिए मैंने बीजेपी को समर्थन देने का फैसला किया। मैं किसी पार्टी और धर्म के खिलाफ नहीं हूं। सीएम फडणवीस ने कुछ दिनों पहले मुझसे मुलाकात की और वादा किया कि वह हमारी मांगों का पूरा सम्मान करेंगे। फडणवीस और मेरे बीच काफी सकारात्मक बातचीत हुई। इसके बाद मैंने अपने अनुयायियों से बीजेपी को वोट देने की अपील की।

रविवार को आए चुनाव नतीजों में भाजपा जीत गई और शिवसेना को हार का सामना पड़ा। इसके बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने जैन मुनि नयपद्मसागर के खिलाफ जमकर आग उगली। राउत ने कहा कि हम जैन समाज का सम्मान करते हैं परंतु नयपद्मसागर ने जा कुछ किया वो शिवसेना पर हमला करने जैसा है। उन्होंने कहा कि यहां भाजपा चुनाव जीत गई है लेकिन "money and Muni" के कारण। 

इसके बाद जैन समाज ने शिवसेना का विरोध शुरू कर दिया है। सोशल मीडिया पर शिवसेना के खिलाफ बयान पोस्ट किए जा रहे हैं। भाजपा नेता कीर्ति सोमैया ने कहा कि शिवसेना अपनी हार को पचा नहीं पा रही है। यहां शिवसेना को मात्र 22 सीटें मिलीं हैं जबकि भाजपा 61 सीटों के साथ बहुमत में आ गई है। 95 सदस्यों की नगरपालिका में 2 निर्दलीय प्रत्याशी जीते हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week