हताश अतिथि शिक्षकों का हल्ला बोल आंदोलन 7 सितम्बर से भोपाल में

Sunday, August 27, 2017

सीधी। अतिथि शिक्षक संघर्ष समिति की बैठक कल पूजा पार्क में आयोजित की गई जिसमें आनलाईन भर्ती के बारे चर्चा की गई तथा 7 सितम्बर से भोपाल में होने वाले आन्दोलन की रूप रेखा तैयार किया गया और प्रतिज्ञा की गई जिले का एक-एक अतिथि शिक्षक भोपाल मे अपना हक लेने जायेगा। जिलाध्यक्ष रवि गुप्ता ने कहा कि हम एकजुटता से काम करेंगे। 7 सितम्बर ये आर पार की लड़ाई है या तो हम संविदा शिक्षक बनेगे या इस सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प लेकर लौटेंगे। 

क्योंकि सरकार ने हमे घर बैठाने का पूरी व्यवस्था कर दी है। क्योंकि सरकार की नीति साफ़ समझ आ रही है कि पुराने अतिथि को घर बिठाने की साजिश की गई है। जिससे की हमारी संख्या बल कम हो सके साथ ही हमको आपस में प्रतिस्पर्धा कर आपसी सहभागिता को कम करने का प्रयास सरकार द्वारा किया गया है। 24 अगस्त के आदेश से पूरे पूर्व मे कार्यरत अतिथि शिक्षक बाहर हो जायेगे। तानाशाही आदेशों के माध्यम से शिक्षा विभाग के षड्यंत्र कारी रवैया को प्रदर्शित कर रहा है।। 

एक तरफ मुख्यमंत्री मिल बाॅचे कार्यक्रम मे कहते है कि शिक्षक भगवान से बढ़कर है लेकिन उन्ही शिक्षकों को दर दर भटकने के लिए मजबूर कर दिया है। सरकार साथ साथ शासन के अधिकारी कर्मचारी भी हम अतिथियों का शोषण करना चाहते है और हमे दिग्भ्रमित कर 100 रुपये दिन में शाला प्रभारी का नौकर बनाने की कोशिश करते है।

आखिर ये क्यो ?
(1)जब भर्ती में अनुभव को कोई प्राथमिकता नहीं देनी थी तो फिर रजिस्ट्रेशन मैं उसकी जानकारी क्यों मांगी गई और अनुभव प्रमाण पत्र की अनिवार्यता के लिए अतिथि शिक्षकों को इतने दिन क्यों भटकाया गया।
2) जब पूरे पंजीयन प्रक्रिया में आधार कार्ड कहीं विकल्प ही नहीं है न व्यक्तिगत जानकारी में न शैक्षणिक न अनुभव फिर उसी के माध्यम से वेरिफिकेशन क्यों ?

अतिथि शिक्षकों की प्रमुख मांगे
(1) तीन वर्ष अध्यापन कार्य पूर्ण कर चुके के अतिथि शिक्षकों को गुरुजी के समान संविदा शिक्षक बनाया जाए। 
(2)एक या दो वर्ष अध्यापन कार्य पूर्ण कर चुके अतिथि शिक्षकों को तीन वर्ष पूर्ण करने के बाद लाभ तुरन्त लाभ दिया जाए। 
(3) तीन वर्ष अध्यापन कार्य पूर्ण कर चुके अप्रशिक्षित अतिथि शिक्षकों को प्रशिक्षित के समकक्ष समझकर प्रशिक्षित का प्रमाण पत्र दिया जाए। 
(4) ऑनलाइन भर्ती में केवल पुराने अतिथि शिक्षक को ही रखा जा जाए। 
आज के बैठक मे प्रमुख रूप से शशांक द्विवेदी नोखेलाल तिवारी  बैजनाथ बलभद्र सिह सुनील सिंह आदि उपस्थित रहे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week