पीएम नरेंद्र मोदी के 6 सपने जो लाल किले की प्राचीन से बयां किए

Tuesday, August 15, 2017

नई दिल्ली। देश की आजादी की 70वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 50 मिनट के भाषण में लगभग हर उस विषय पर बात की जिसकी उम्मीद आम आदमी कर रहा था। इससे पहले उन्होंने भारत के बुद्धिजीवियों एवं जागरुक नागरिकों से सुझाव मांगे थे। मोदी के भाषण में नोटबंदी, जीएसटी, सामाजिक एकता, तीन तलाक जैसे कई मुद्दों पर बात हुई। इसके अलावा मोदी ने अपने 6 सपनों का भी जिक्र किया जो उन्होंने भारत के लिए देखे हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'हम देश को विकास के एक नए पथ पर ले जा रहे हैं और तेजी से आगे बढ़ रहे हैं.' स्वंतत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार बिहार, असम, पश्चिम बंगाल, ओडिशा सहित पूर्वी राज्यों और पूर्वोत्तर पर महत्वपूर्ण ध्यान दे रही है क्योंकि इन हिस्सों को और विकास करना है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सपने के भारत का जिक्र किया. उन्होंने लाल किले के प्राचीर से अपने छह सपनों को जिक्र किया. साथ ही देशवासियों से कहा अगर बिना आपके ये सपने पूरा नहीं होंगे. देश को न्यू इंडिया बनाने के लिए पूरे देश को एकजुट होकर काम करना होगा. आइए पीएम मोदी के उन छह सपनों के बारे में जानें.

हम सब मिलकर एक ऐसा भारत बनाएंगे जो स्वच्छ होगा, स्वस्थ होगा और स्वराज के सपने को पूरा करेगा.
हम सब मिलकर एक ऐसा भारत बनाएंगे, जहां भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से कोई समझौता नहीं होगा.
हम सब मिलकर एक ऐसा भारत बनाएंगे जो आतंकवाद, संप्रदायवाद और जातिवाद से मुक्त होगा.
हम सब मिलकर एक ऐसा भारत बनाएंगे जहां युवाओं और महिलाओं को उनके सपने पूरे करने के लिए भरपूर अवसर मिलेंगे.
हम सब मिलकर एक ऐसा भारत बनाएंगे, जहां देश का किसान चिंता में नहीं, चैन से सोएगा, आज वो जितना कमा रहा है, उससे दोगुना कमाएगा.
हम सब मिलकर एक ऐसा भारत बनाएंगे, जहां गरीब के पास पक्का घर होगा, बिजली होगी, पानी होगा.

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week