2018 में भाजपा का चेहरा हो सकते हैं नरोत्तम मिश्रा

Monday, August 14, 2017

उपदेश अवस्थी/भोपाल। मध्यप्रदेश के जनसंपर्क एवं जल संसाधन मंत्री नरोत्तम मिश्रा भले ही चुनाव आयोग द्वारा पेड न्यूज मामले में अयोग्य ठहरा दिए गए हों परंतु पार्टी पर उनकी पकड़ कमजोर नहीं हुई है, उल्टा मजबूत हो गई है। वो मप्र के किसी भी मंत्री से ज्यादा महत्वपूर्ण और शिवराज सिंह से ज्यादा ताकतवर हैं। इस बात का संकेत भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दे दिया है। मप्र प्रवास के दौरान अमित शाह पार्टी कार्यालय में निवास करेंगे, दलितों के यहां भोजन करेंगे परंतु इसके अलावा वो केवल नरोत्तम मिश्रा के घर जाएंगे और भोजन करेंगे। इसी के साथ अब इस संभावना को बल मिल गया है कि 2018 के चुनाव में नरोत्तम मिश्रा भाजपा का चेहरा हो सकते हैं। याद दिलाने की जरूरत नहीं कि मप्र में शिवराज सिंह विरोधी लहर जारी है। सीएम इससे बचने के लिए काफी इनो​वेटिव काम करने की कोशिश कर रहे हैं फिर भी यह हर स्तर पर उपस्थित है। 

राजनैतिक गलियारों में यह माना जा रहा है कि नरोत्तम के घर जाकर अमित शाह एक खास संदेश देना चाहते हैं। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने इस बात की पुष्टि की है कि अमित शाह एक दिन नरोत्तम के घर भोजन करेंगे। इतना ही नहीं मिश्रा के ​घर ही वो मीडियाकर्मियों से भी मुलाकात करेंगे। उल्लेखनीय है कि नरोत्तम मिश्रा को चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव के दौरान पैसे देकर अपने पक्ष में खबरे छपवाने का दोषी माना है। उनकी सदस्यता अमान्य कर दी गई है। 

इस दौरान राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा जोर पकड़ गई थी कि नरोत्तम मिश्रा पेडन्यूज के याचिकाकर्ता का नहीं बल्कि सीएम शिवराज सिंह चौहान के शिकार हो गए हैं। उदाहरण सहित बताया गया था कि अब तक भाजपा के एक दर्जन से अधिक दिग्गज सीएम शिवराज सिंह का शिकार हो चुके हैं। भाजपा में जिसका कद शिवराज सिंह के समकक्ष आता है, वो किसी ना किसी कानूनी झमेले में फंस जाता है। उसकी पुरानी धूल खा रहीं फाइलों पर कार्रवाई शुरू हो जाती है लेकिन शायद इस बार ऐसा नहीं होगा। नरोत्तम मिश्रा शायद अपने ऊपर आए संकट से उबरने का रास्ता निकाल चुके हैं और अमित शाह का निमंत्रण स्वीकार करना कई संभावनाओं व संकेतों को जन्म दे गया है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week