गणेशोत्सव के दौरान पहाड़ी से निकली 11वीं सदी की प्राचीन गणेश प्रतिमा

Thursday, August 31, 2017

ऋषभ जैन/भोपाल। देशभर में इन दिनों गणेशोत्सव की धूम है। इस दौरान पुरातत्व विभाग को श्री गणेश की प्राचीन दुर्लभ प्रतिमा मिली है। यह प्रतिमा रायसेन जिले के ग्राम ढ़ावला (ग्राम पंचायत हर्रई) में मलबा-सफाई के दौरान मिली। श्री गणेश के साथ ही भगवान शिव, विष्णु, देवी, भैरव, जेन चतुष्टिका प्रतिमा के अलावा पहाड़ी पर 4 मंदिरों के अवशेष भी प्रकाश में आये हैं। इनमें मंदिरों के केवल नीचे के भाग सुरक्षित हैं।

पुरातत्व आयुक्त श्री अनुपम राजन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सफाई के दौरान मिली प्राचीन प्रतिमा 11वीं शती ई. से 13वीं शती ई. के मध्य की हैं। गाँव की लगभग 50 फीट ऊँची पहाड़ी पर भगवान शिव का प्राचीन मंदिर है। इसके गर्भ-गृह में शिवलिंग एवं जलाधारी भी प्रकाश में आये हैं।

श्री राजन ने बताया कि विभाग में गठित तकनीकी दल द्वारा करवाई गई मलबा-सफाई के समय प्राचीन मंदिर के भाग यथा- द्वार शाखा, सिरदल, जंघा, शिखर भागों के साथ-साथ कई अन्य मूर्तियाँ भी मिली हैं। पुरातत्व आयुक्त ने तकनीकी दल के अधिकारी डॉ. रमेश यादव, संग्रहाध्यक्ष राजगढ़ श्री जी.पी. सिंह, पुरातत्ववेत्ता श्री आशुतोष उपरीत, पुराविद सर्वश्री योगेश पाल एवं डॉ. अहमद अली को प्राचीन मं‍दिरों एवं दुर्लभ प्रतिमा खोज निकालने के लिये बधाई दी है। पुरातत्व आयुक्त श्री राजन ने प्रकाश में आये मंदिरों को मूल स्वरूप में लाने के लिये अनुरक्षण कार्य शीघ्र प्रारंभ करवाने के निर्देश दिये हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week