RISHI GARG IAS ने वृद्ध होमगार्ड को दी तालिबानी सजा, गुस्साए सैनिक, किया प्रदर्शन

Sunday, July 9, 2017

श्योपुर। होमगार्ड सैनिक को कलेक्टर आॅफिस के 5 चक्कर लगाने की सजा देने वाले जिला पंचायत सीईओ ऋषि गर्ग (आईएएस) के खिलाफ श्योपुर में होमगार्ड के सैनिक लामबंद होकर सड़क पर उतर आये हैं। होमगार्ड सैनिकों ने पहले तो कलेक्टोरेट पर प्रदर्शन किया इसके बाद मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। होमगार्ड सैनिकों की मांग है कि, बॉडीगार्ड रामअवतार श्रीवास से कलेक्टोरेट के चक्कर लगवाने वाले जिपं सीईओ पर तत्काल कार्रवाई की जाए। घटना से नाराज होमगार्ड के सभी जवानों ने अपने कमाडेंट अजय सिंह सिकरवार से दो टूक कह दिया कि, अब जिपं सीईओ की सुरक्षा में हममें से कोई तैनात नहीं होगा। 

गौरतलब है कि, गुरुवार की शाम 7:30 बजे के लगभग जिला पंचायत सीईओ ऋषि गर्ग कलेक्टर की बैठक से बाहर निकले तो गाड़ी पर उन्हें बॉडीगार्ड रामअवतार श्रीवास होमगार्ड जवान नहीं दिखा। पास ही दूसरी गाड़ी के ड्राइवर के साथ खड़ा बॉडीगार्ड रामअवतार जैसे ही आया तो जिपं सीईओ उस पर झल्ला गए और बुरी तरह फटकारा। इसके बाद सीईओ ने 52 वर्ष के रामअवतार को कलेक्टोरेट के 10 चक्कर काटने की सजा सुना दी। 

रामअवतार ने चक्कर लगाना शुरू कर दिया, लेकिन पांच चक्कर में ही वह बुरी तरह हांफ गया और बैठ गया। यह घटना जैसी ही मीडिया की सुर्खी बनी तो होमगार्ड जवान भी एक हो गए। शनिवार शाम सभी होमगार्ड जवानों ने कलेक्टोरेट के बाहर प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम आरबी सिंडोस्कर को ज्ञापन दिया।

मुझे मुर्गा बनने कहा, धूप में खड़ा रखा
होमगार्ड का एक और जवान सामने आया और बोला कि जिला पंचायत सीईओ ऋषि गर्ग उसके साथ भी ऐसी तानाशाही कर चुके हैं। रामअवतार मौर्य नाम के होमगार्ड जवान का कहना है कि 14 जून को सीईओ की सुरक्षा में उसकी ड्यूटी लगाई गई। 14 जून की सुबह 9:15 बजे रामअवतार मौर्य को फोन आया और तत्काल बंगले पर आने को कहा। बकौल रामअवतार वह 09:27 पर ईको सेंटर पर पहुंच गया, जहां जिपं सीईओ फिलहाल रह रहे हैंलेकिन रामअवतार के पहुंचने से पहले ही जिपं सीईओ वहां से जा चुके थे। 

दूसरे दिन 15 जून को जब रामअवतार पहुंचा तो जिपं सीईओ ने उसे बुरी तरह फटकारा। बकौल रामअवतार जब उसने कहा कि उसे 15 मिनट पहले फोन कर बुलाया, घर से आने में इतना समय तो लगेगा। होमगार्ड जवान की यह हाजिर जवाबी जिपं सीईओ को पसंद नहीं आईं। बकौल रामअवतार, जिपं सीईओ ने उसे यह कहते हुए दूर कर दिया कि पास क्यों आ रहे तो, दूर से बात करो। इसके बाद सीईओ ने जमकर भला-बुरा कहा और मुर्गा बनने के लिए कह दिया। होमगार्ड जवान के अनुसार उसने मुर्गा बनने से इंकार कर दिया तो सीईओ ने उसे धूप में खड़ा रहने की सजा सुना दी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week