नंदकुमार सिंह ने महिला कर्मचारियों से 'शिवराज जिंदाबाद' के नारे लगवाए, मजबूरी का फायदा उठाया

Saturday, July 8, 2017

भोपाल। खिसकते जनाधान की छटपटाहट, जंग की तरह चिपक चुका अहंकार और कानों को आदत बन चुकी जय जयकार किसी नेता को किस मोड़ पर ले आती है। ये मामला इसी का उदाहरण है। भाजपा कार्यालय में अपनी समस्याओं का ज्ञापन लेकर समाधान की तलाश में पहुंची महिला कर्मचारी आशा-उषा कार्यकर्ताओं से प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान द्वारा शिवराज सिंह जिंदाबाद के नारे लगवाए। 

छह जुलाई को प्रदेश भर में कार्यरत आशा-उषा कार्यकर्ताओं का प्रतिनिधिमंडल अपनी समस्याओं को लेकर बीजेपी कार्यालय पहुंचा था। बीजेपी कार्यालय में उस दौरान प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान मौजूद थे। नंदकुमार चौहान आशा-उषा कार्यकर्ताओं से मिलने तो पहुंचे, लेकिन मीडिया का हवाला देकर उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि पहले अपने शिवराज भैया के नारे लगाओ तब आपकी मांगों को लेकर हम दिल्ली तक आवाज उठाएंगे। 

अब ये मामला सुर्खियों में आ गया है। सब अपने अपने नजरिए से प्रतिक्रिया दर्ज करा रहे हैं लेकिन एक मामले में सारी सोशल मीडिया एकमत है कि नंदकुमार सिंह चौहान ने जो कुछ किया वो प्रशंसा योग्य नहीं है। किसी ने कहा कि मप्र में भाजपा अब शिवराज सिंह के भीतर समा गई है। शिवराज सिंह, पार्टी से इतने बड़े हो गए हैं कि प्रदेशाध्यक्ष को भी अब केवल वही दिखते हैं। तो किसी ने बताया कि कर्मचारियों से इस तरह की नारेबाजी करवाना गैर कानूनी है। महिलाओं को मदद का लालच देकर नारेबाजी गैरकानूनी भी बताई जा रही है। ये ठीक वैसी ही प्रक्रिया है जैसी गैरकानूनी धर्मांतरण के समय उपयोग लाई जाती है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week