मप्र में NARENDRA MODI के भाई को रुकने के लिए एक कमरा तक नहीं मिला, वापस लौटे

Friday, July 21, 2017

भोपाल। मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार विज्ञापनों में विकास के दावे भले ही कितने भी करती रहे परंतु असलियत क्या है यह भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाई प्रहलाद मोदी ने खुद अपनी आखों से देख ली। उन्हे जबलपुर में विश्राम करने के लिए एक अदद साफ स्वच्छ कमरा तक नहीं दिया गया। सर्किट हाउस में जो रूम उन्हे अलाट किया गया वो इतना गंदा था कि प्रहलाद मोदी तक बोल पड़े कि यह तो जानवरों को बांधने के लायक भी नहीं है। गुस्साए मोदी वापस लौट गए। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के छोटे भाई प्रहलाद मोदी सतना से लौटकर जबलपुर आए। प्रहलाद मोदी को सर्किट हाउस नंबर 1 में कमरा नहीं दिया गया, वहां से जब वे सर्किट हाउस नंबर 2 में पहुंचे तो वहां की व्यवस्थाएं देखकर नाराज हो गए। उन्होंने कहा कि इस कमरे की हालत ऐसी है जैसे कोई जानवर यहां रुकने के लिए आने वाला है। उसके बाद उन्होंने वहां का पानी तक नहीं पिया और अपने समर्थकों के साथ वहां से रवाना हो गए।

पहले से थी जबलपुर आने की सूचना...
सूत्रों के अनुसार उनके नगर आगमन की सूचना पहले से थी और वे अपने निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक रात दस बजे के करीब जबलपुर पहुंचे और अपने समर्थकों के साथ सीधे सर्किट हाउस नंबर 1 पहुंचे, वहां पर उन्हें बताया गया कि उनके नाम का कोई कमरा बुक नहीं है। उसके बाद वे वहां से सर्किट हाउस नंबर 2 पहुंचे। वहां पर भी कमरा बुक नहीं था। जानकारी मिलने पर समर्थकों ने प्रशासनिक अधिकारियों को मोबाइल लगाया, लेकिन किसी अधिकारी से बात न हो सकी। समर्थकों द्वारा नाराजी जताते हुए हंगामा करने पर वहां पर एक कमरा खोला गया। कमरे में पहुंचते ही कमरे की हालत देखकर मोदी ने एक पल भी वहां ठहरना उचित नहीं समझा और कमरे से बाहर आ गए।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week