JUG: परीक्षा और रिजल्ट को मजाक बना दिया

Sunday, July 9, 2017

ग्वालियर। जीवाजी यूनिवर्सिटी परीक्षा चार्ट और अंकों में गड़बड़ी का एक और मामला शनिवार को सामने आया। एमएड दूसरे सेमेस्टर की परीक्षा तो इसी साल जून में हुई, लेकिन छात्रों को इन्टरनेट की जो मार्कशीट मिली है, उसमें परीक्षा पिछले साल दिसंबर में होना बताई है। इतना ही नहीं, रामनाथ सिंह बीएड कॉलेज के सभी 22 छात्रों को सेशनल एग्जाम में गैरहाजिर दिखाया है। परेशान छात्र शनिवार को यूनिवर्सिटी पहुंचे, लेकिन अवकाश के कारण निराश होकर लौट गए।

जेयू ने पिछले दिनों बीएड और एमएड परीक्षाओं का परिणाम घोषित किया है। परिणाम से पता चला कि मूल्यांकन में बड़े स्तर की गड़बड़ी की गई है। शुक्रवार को संस्कार कॉलेज के छात्र जेयू पहुंचे थे। इस कॉलेज के 68 में से 44 छात्रों को एक ही विषय में फेल किया है। सभी के अंक समान हैं। जेयू ने विशेषज्ञ से कुछ कॉपियां चेक कराने का भरोसा दिया। अभी कॉपियां चेक कराने के लिए शिक्षक का नाम सोचा जा रहा था कि शनिवार को एमएड का मामला सामने आ गया।

जेयू के सत्र 2015-16 में प्रवेश लेने वाले एमएड छात्रों का दूसरे सेमेस्टर का परीक्षा परिणाम पिछले साल जून में घोषित करना था, जो अभी किया है। यानी एक साल बाद। इस प्रकार दो साल का यह पाठ्यक्रम एक साल देरी से चल रहा है। छात्रों की चिंता यह है कि यदि यही हाल रहा तो सत्र और लेट हो सकता है।

कोलकाता की फर्म व जेयू अधिकारियों की लापरवाही से इस तरह की गड़बड़ियों को लेकर छात्र परेशान हैं। हर दिन दो-तीन सैकड़ा छात्र विवि पहुंचते हैं। अधिकारियों और सुरक्षा गार्डों से उनकी तकरार होती है। कई बार मारपीट की स्थिति निर्मित हो जाती है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week