अब INDORE में अफ्रीकी टूरिस्ट का आना जाना लगा रहेगा

Wednesday, July 26, 2017

इंदौर। मप्र की आर्थिक राजधानी इंदौर में टूरिज्म का नया अवसर सामने आया है। विदेशी टूरिस्ट कार्यक्रमों से संबद्ध लोगों को अब उस भाषा में भी फ्रेंडली होना होगा जो दक्षिण अफ्रीका में बोली जाती है। क्योंकि जल्द ही इंदौर में अफ्रीकी टूरिस्ट का आना जाना शुरू हो जाएगा और यह सिलसिला निरंतर चलता रहेगा। दक्षिण अफ्रीका ने इंदौर को अपने पसंदीदा पर्यटक शहरों की लिस्ट में शामिल कर लिया है। दक्षिण अफ्रीका ने भारत के जिन 10 उच्च क्षमता वाले शहरों को उभरते पर्यटक बाजार की दृष्टि से सूचिबद्ध किया है उसमें से एक इंदौर भी है। दक्षिण अफ्रीका और वहां के पर्यटन के बारे में यह रोचक जानकारियां हैनेली स्लैब्बर (कंट्री मैनेजर भारत, दक्षिण अफ्रीका पर्यटन) ने मंगलवार को दी।

दक्षिण अफ्रीका के पर्यटन के बारे में जानकारियां साझा करने शहर आईं हैनेली स्लैब्बर ने बताया कि अन्य देशों के मुकाबले वहां आने वाले पर्यटकों में भारतीय पर्यटकों की संख्या ज्यादा है। इसके अलावा यहां के पर्यटकों की खूबी यह है कि वे वहां कम वक्त में भी ज्यादा एंजॉय करते हैं।

अन्य देश के लोग जहां एक दिन में दो ही एक्टिविटी का हिस्सा बनते हैं वहीं भारतीय एक दिन में 5-6 एक्टिविटी कर लेते हैं। 2016 में वहां आने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में 21.7 प्रतिशत का इजाफा हुआ जिनमें से बात अगर इंदौर और इंदौर जैसे टू टायर सिटी से आने वाले पर्यटकों की करें तो इनका आंकड़ा 55 प्रतिशत के करीब है।

गांधी जी को मिलता है सम्मान
भारत और दक्षिण अफ्रीका दोनों की ही यदि समानता की बात करें तो जितना सम्मान महात्मा गांधी को यहां दिया जाता है, उतना ही सम्मान उनका वहां भी है। वहां आज भी उनके बारे में स्कूलों में पढ़ाया जाता है, उन पर चर्चाएं होती हैं। कई बार तो बच्चे यह भी नहीं समझ पाते कि महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका के नहीं थे, बल्कि भारत से वहां गए थे। बाद में उन्हें यह बात समझाई जाती है तो सम्मान और भी बढ़ जाता है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week