दहशत में चीनी कंपनियां: कर्मचारियों की यूनिफार्म और प्रचार प्रसार बंद

Sunday, July 23, 2017

इंदौर। डोकलाम विवाद के चलते बाजारों में शुरु हुए चीनी उत्पादों और चीन की कंपनियों के खिलाफ प्रदर्शन से कंपनियां दहशत में हैं। VIVO और OPPO जैसी मोबाइल कंपनियां जो आक्रामक प्रचार प्रसार कर रहीं थीं, उन्होंने ना केवल अपना प्रचार अभियान बंद कर दिया है जबकि ज्यादातर इलाकों से अपनी प्रचार सामग्री भी हटा दी है। इतना ही नहीं चीन की कंपनियों ने अपने कर्मचारियों पर यूनिफार्म पहनने की अनिवार्य शर्त भी हटा दी है ताकि जब वो बिना बोर्ड वाले शोरुम में हों तो लोगों को पता ही नहीं चल पाए कि यह शोरुम चीनी कंपनी का है। 

कर्मचारियों से सप्ताहभर तक सादी ड्रेस में ड्यूटी पर आने को कहा है। ये आदेश जेल रोड के मोबाइल मार्केट से लेकर कंपनी के एक्सक्लूसिव शोरूम्स और तमाम काउंटरों पर लागू कर दिया गया है। कंपनियों ने सेल्स और मार्केटिंग वाले कर्मचारियों को बैज और आइडेंटी कार्ड लगाने से भी मना कर दिया है। जेल रोड के मोबाइल विक्रेता रवि कदम के मुताबिक हर बड़ी दुकान पर कंपनियों के सेल्स प्रमोटर्स नियुक्त हैं। इनके लिए नियम है कि इन्हें कंपनी की निर्धारित टीशर्ट पर बैज लगाकर ही ड्यूटी पर आना है। नियम के मुताबिक उपस्थिति दर्ज करवाने के लिए हर दिन तय स्थान से कर्मचारी को यूनिफॉर्म में अपने फोटो के साथ जीपीएस से लोकेशन भी कंपनी को भेजना होती है।

जो कर्मचारी नियम नहीं मानता, उसकी अनुपस्थिति लगाई जाती है। उसका वेतन भी काट लिया जाता है। शहर में अकेले इन दोनों कंपनियों से जुड़े सात सौ से ज्यादा कर्मचारी हैं, जबकि प्रमोशन टीम के साथ करीब एक हजार लोग ब्रांड की तय यूनिफॉर्म में बाजारों में हर दिन मौजूद रहते हैं।

सुरक्षा के लिहाज से लिया फैसला
सेल्स प्रमोटर्स और कंपनी से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक भोपाल में हुई तोड़फोड़ के बाद इंदौर में आदेश जारी कर दिया था। कंपनी के लिए काम कर रहे लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। फिलहाल एक सप्ताह तक कर्मचारियों को यूनिफॉर्म पहनने से मना किया है। आगे स्थिति की समीक्षा कर निर्णय लेंगे। बाजारों में अभी ब्रांड के प्रचार के लिए लगाई जाने वाली कैनोपी, रैली जैसी गतिविधियां भी रोक दी हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week