उपवास के दिन CM शिवराज सिंह से मृत किसानों के परिजनों को मिलाने वाला BJP नेता अफीम तस्कर निकला

Saturday, July 29, 2017

उपदेश अवस्थी/भोपाल। मध्यप्रदेश में हाल ही में हुआ किसान आंदोलन कोई भूला नहीं होगा। हिंसक हुए आंदोलन को रोकने के लिए सीएम शिवराज सिंह का उपवास भी सबको याद होगा। फिर तो यह भी याद होगा कि गोलीकांड में मारे गए किसानों के परिजन मंदसौर से अचानक भोपाल आए और उन्होंने सीएम से उपवास तोड़ने की अपील की। इसी अपील पर शिवराज सिंह ने उपवास समाप्त किया था। अब बताने वाली बात यह है कि गोलीकांड में मारे गए किसानों के परिजनों को जो भाजपा नेता सीएम से मिलवाने भोपाल लाया था वो गुणवंत पाटीदार अफीम तस्कर है। एनडीपीएस मामलों के विशेष न्यायधीश जेसी राठौड़ ने आज उसे 5 साल की जेल और 75 हजार का जुर्माना की सजा सुनाई है। सीधी शिवराज सिंह तक पहुंच रखने वाला गुणवंत पाटीदार मंदसौर जिला पंचायत का उपाध्यक्ष भी है। 

मंदसौर जिला पंचायत उपाध्यक्ष गुणवंत पाटीदार उर्फ़ श्याम पिता घनश्याम पाटीदार निवासी बूढ़ा जिला मंदसौर उम्र 28 वर्ष को उसके एक अन्य साथी दिनेश पिता कन्हैयालाल जोशी निवासी अमलावद थाना भावगढ़ जिला मंदसौर को मल्हारगढ़ पुलिस ने 5 फरवरी 2011 को चंगेरी फंटा पर 1 किलो 400 ग्राम अवैध अफीम के साथ गिरफ्तार किया था। यह मामला मंदसौर की एनडीपीएस कोर्ट में चल रहा था। जिस पर आज विशेष न्यायधीश जेसी राठौड़ ने फैसला सुनाते हुए आरोपी गुणवंत पाटीदार को 5 साल के कारावास और 75 हज़ार रूपए अर्थदंड की सजा सुनाई।

बता दें कि गुणवंत पाटीदार का सगा भाई प्रफुल्ल पाटीदार कांग्रेस का नेता है। उसी ने मृत किसानों के परिवारों को कांग्रेस नेताओं से मिलाया था। मप्र की सीआईडी रिपोर्ट कहती है कि मंदसौर में किसान आंदोलन अफीम तस्करों के कारण हिंसक हो गया था। सीएम शिवराज सिंह का कहना है कि कांग्रेस ने आग में घी डालने का काम किया था। अब बात यह है कि अफीम तस्कर तो भाजपाई निकला और कांग्रेसी उसका सगा भाई है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week