BOMBAY HOSPITAL: कैलाश विजयवर्गीय की बहू को भी 'गरीब' दर्ज कर लिया

Tuesday, July 4, 2017

इंदौर। क्षेत्र के प्रख्यात बॉम्बे अस्पताल का निर्धन महिलाओं को मुफ्त इलाज वाला मामला अब सुर्खियों में आ गया है। अस्पताल प्रबंधन ने जिन महिलाओं को गरीब बताकर नि:शुल्क इलाज का दावा किया है, उसमें एक नाम भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की बहू मंजूर विजयवर्गीय का भी है। याचिकाकर्ता का आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने फर्जीवाड़ा किया है। कुछ ऐसी महिला मरीजों के नाम भी गरीब लिस्ट में दर्ज कर लिए गए, जिन्हे इलाज की फीस में कुछ डिस्काउंट दिया गया था। बिल की रकम में कुछ छूट देकर मुफ्त इलाज के कागजात पर सहमति ले ली गई। 

हाईकोर्ट में याचिकाकर्ता ने रिजॉइंडर के साथ कुछ परिजन के शपथ-पत्र भी पेश किए। उसका कहना था कि फर्जीवाड़ा इसी से साबित हो रहा है कि मुफ्त इलाज कराने वालों की लिस्ट में शामिल मंजु विजयवर्गीय नाम की महिला का पता 880/9 नंदा नगर लिखा है। यह भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का स्थायी पता है। याचिकाकर्ता ने रिजॉइंडर के साथ उन मरीजों के घरों के फोटो भी पेश किए, जिन्हें गरीब बताकर मुफ्त इलाज का दावा किया जा रहा है। बॉम्बे अस्पताल ने रिजॉइंडर पर जवाब देने के लिए 10 दिन का समय ले लिया। याचिका पर अब 17 जुलाई से शुरू होने वाले सप्ताह में सुनवाई होगी।

वकील उपेंद्र सिंह के माध्यम से दायर जनहित याचिका में धीरज मोहनिया ने कहा है कि बॉम्बे अस्पताल ने आईडीए से रियायती दर पर जमीन ली थी। इसकी लीज शर्तों के मुताबिक अस्पताल में गरीब वर्ग के 15 फीसदी मरीजों का मुफ्त इलाज होना था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। शर्तों का उल्लंघन हो रहा है। इसलिए लीज निरस्त की जाए। कोर्ट के आदेश पर अस्पताल ने उन मरीजों की लिस्ट पेश की, जिनका मुफ्त इलाज किया गया।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week