परिवार पर भी भरोसा नहीं था, बीमार मां को जहर देकर सुसाइड कर गया व्यापार

Saturday, July 22, 2017

सिहोरा/जबलपुर यहां एक किराना व्यापारी ने सुसाइड कर लिया क्योंकि वो सूदखोरों से तंग आ गया था परंतु सुसाइड करने से पहले उसने अपनी 74 वर्षीय बूढ़ी मां को भी जहर देकर मार डाला क्योंकि उसे अपने भरे पूरे परिवार पर भरोसा नहीं था कि उसकी मौत के बाद कोई उसकी मां का ध्यान रखेगा। व्यापारी राजकुमार चावला का भरापूरा परिवार मौजदू है। उसका भाई एवं भाई का परिवार पत्नि और बेटी घर में ही रहते हैं फिर भी हालात देखिए कि 74 वर्षीय वृद्धा की देखभाल के लिए कोई सहयोग नहीं करता था। मृतक के पास से पुलिस को सुसाइड नोट मिला है, जिसमें कर्जदाताओं के द्वारा प्रताड़ित करने से परेशान होकर आत्महत्या करना लिखा है। सिहोरा पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है।

सिहोरा के नगर पालिका के पीछे वार्ड क्रमांक 10 निवासी किराना व्यापारी राजकुमार चावला (48) आज सुबह पांच बजे घर के कमरे में सो रही बीमार मां माया चावला (74 वर्ष) को जहर पिलाने के बाद खुद भी जहर का सेवन कर लिया। जहर पीते ही राजकुमार फार्स पर गिर पडा। गिरने की आवाज सुनकर दादी के पास सो रही बड़ी बेटी स्वाति (18) की नींद खुल गई, जो पिता के मुँह से झाग निकलता देख वह घबरा गई। और ऊपर के कमरे में सो रही माँ लक्ष्मी चावल (43) को जगाया। दोनों बाजू में रहने वाले चाचा मन्नू खत्री को घटना की जानकारी दी। मन्नू दोनों को अपनी गाडी से लेकर सिहोरा हॉस्पिटल लेकर गया, जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

कर्जदाता आए दिन करते थे परेशान 
हॉस्पिटल की सूचना पर सिहोरा पुलिस मौक़े पर पहुंची। पुलिस को जांच के दौरान मृतक की जेब से सुसाइड नोट मिला है। जिसमें कर्जदाताओं के परेशान करने की बात सामने आई है। सुसाइड नोट में चार लोगों से भारी भरकम कर्ज लेने के बाद चुकाने को लेकर आए दिन प्रताड़ित करने बताया गया है। किराना व्यापारी कर्ज चुकानें के लिए जुआ खेलने लगा था। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं