पूरी BJP कार्यसमिति में एकराय होकर कहा: किसानों का कर्ज माफ नहीं करना

Sunday, July 23, 2017

भोपाल। यूपी की तरह कर्जमाफी की मांग कर रहे मध्यप्रदेश के किसानों के लिए बुरी खबर है। सीएम शिवराज सिंह चौहान के आह्वान पर भाजपा की पूरी कार्यसमिति में हाथ उठाकर एकराय होते हुए सीएम को समर्थन दिया कि किसानों के कर्ज माफ नहीं किए जाने चाहिए। सीएम ने कहा कि सरकार किसानों को उचित समर्थन मूल्य दे रही है। भाजपा कार्यसमिति ने सीएम का स्वागत किया। इस बैठक में 'अबकी बार, मप्र में 200 के पार' का नारा दिया गया। हाल ही में मप्र के किसानों ने कर्जमाफी के लिए आंदोलन किया था। इस दौरान पुलिस फायरिंग में 6 किसानों की मौत हो गई थी। माहौल शांत होने के बाद शिवराज सरकार ने इसे इलाकाई उपद्रव बताया है। 

हर जिले की पंचायत बुलाएंगे, झगड़े सुलझाएंगे शिवराज
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भाजपा के जमीनी कार्यकर्ता को सीधे जोड़ने के लिए नई ट्रिक इजाद की है। उन्होंने तय किया है कि गुटबाजी खत्म करने के नाम पर ​हर जिले की पंचायत बुलाई जाएगी। वहां के संभागीय संगठन मंत्री, जिलाध्यक्ष, सांसद, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, को-आपरेटिव बैंक अध्यक्ष समेत 50 प्रमुख नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ सीएम हाऊस में संगठन नेताओं के साथ बैठक की जाएगी। इसके बाद नेताओं के आपसी विवाद दूर हों ना हों परंतु शिवराज सिंह को भरोसा है कि वो सभी 2018 में 'मिशन 200 पार' के लिए जरूर जुट जाएंगे। 

बिजली दिला दो, डीजल से वैट हटा दो
दस घंटे किसानों को बिजली मिलने के दावे को कार्यसमिति के सदस्यों ने गलत करार दिया। जबलपुर के शिव पटेल ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में किसानों को चार से छह घंटे ही बिजली मिल रही है। उन्होंने इस व्यवस्था में सुधार का आग्रह किया। दमोह के राजेन्द्र गुरू ने कहा कि कर्ज माफी की जरूरत नहीं है पर किसान राजस्व और बिजली विभाग से परेशान हैं। यहां अफसरों पर नकेल कसे जाने की जरूरत है। एक अन्य सदस्य ने प्रदेश में डीजल को महंगा बताते हुए कहा कि अन्य प्रदेश की तुलना में यहां पांच से छह रूपए डीजल महंगा मिल रहा है। इस पर वैट कम किया जाना चाहिए।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week