नीलबड़ में पानी नहीं दे पाएगा नगर निगम BHOPAL

Saturday, July 22, 2017

भोपाल। नीलबड़ में सस्ते प्लाट के नाम पर दनादन हजारों खेत बिक​ गए। धीरे धीरे डायवर्सन भी हो रहे हैं। प्रॉपर्टी के दाम भी बढ़ने लगे हैं और करीब 1000 लोगों ने मकान भी बना लिए लेकिन अब वहां पेयजल संकट आ खड़ा हुआ है। पंचायत के समय बिछी पाइप लाइन से हरि नगर के 80 मकानों को पानी का कनेक्शन दे दिया गया है। लेकिन उन्हें भी पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है। नगर निगम ने नीलबड़ में पेयजल सप्लाई करने से मना कर दिया है। जो लोग नल कनेक्शन के लिए आवेदन देने आ रहे हैं उनसे शपथपत्र मंगवाए जा रहे हैं कि वो केवल कनेक्शन लेंगे, नल में पानी आएगा या नहीं आएगा तो वो आपत्ति नहीं उठाएंगे। 

एक निजी कंपनी में अकाउंटेंट नितिन आडवाणी ने नीलबड़ क्षेत्र के हरि नगर में मकान बनाया है। नल कनेक्शन के लिए नगर निगम के ऑफिस पहुंचे तो निगम के स्टाफ ने कहा कि आपको नल का कनेक्शन तो मिल जाएगा, लेकिन लिखकर देना होगा कि हम पानी की मांग नहीं करेंगे। आडवाणी को यह बात कुछ अजीब लगी। अब यही बात आडवाणी को परेशान किए हुए है। लेकिन यह मामला अकेले आडवाणी का नहीं बल्कि नगर निगम सीमा में शामिल हुए पूरे नीलबड़ का है। यहां विभिन्न काॅलोनियों में एक हजार से अधिक मकान बन चुके हैं, लेकिन नगर निगम ने यहां पानी सप्लाई की कोई नई लाइन नहीं बिछाई है। पंचायत के समय बिछी पाइप लाइन से हरि नगर के 80 मकानों को पानी का कनेक्शन दे दिया गया है। लेकिन उन्हें भी पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है। 

निगम सीमा में है, लेकिन हालात गांव जैसे 
कोलार नगरपालिका के साथ नगर निगम में शामिल हुए 20 गांवों में नीलबड़ भी था। करीब ढाई साल बाद भी यहां हालात गांवों जैसे ही हैं। अकेली इस कॉलोनी में ही 200 प्लाॅट हैं। 100 से अधिक मकान बन चुके हैं। 

फिलहाल कोई समाधान नहीं है
नीलबड़ में निगम की पाइपलाइन नहीं है। जो लोग कनेक्शन के लिए आते हैं, उनसे हम यह लिखकर देने को कहते हैं कि वे पानी नहीं मांगेंगे। ताकि रोजाना के विवाद से बच सकें। अमृत योजना का नेटवर्क पूरा होने पर समस्या का समाधान हो सकेगा। 
एचएस श्रीवास्तव, सहायक यंत्री (जलकार्य, नगर निगम जोन क्रमांक-6) 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week