मप्र प्याज घोटाला: कमलनाथ ने शिवराज सिंह को लिखी चिट्ठी मांगा चिट्ठा

Friday, July 21, 2017

शैलेन्द्र गुप्ता/भोपाल। विधानसभा मानसून सत्र के दौरान खुले मप्र प्याज घोटाले को दबाने के लिए भले ही सरकार ने आनन फानन पहले जीएम नान श्रीकांत सोनी को सस्पेंड किया फिर गिरफ्तार करवा दिया लेकिन मामला इतने भर से दबता दिखाई नहीं दे रहा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं छिंदवाड़ा सांसद कमलनाथ अब मप्र प्याज घोटाले की कुण्डली तैयार कर रहे हैं। उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान को चिट्ठी लिखकर प्याज खरीदी से लेकर बिक्री तक का चिट्ठा मांगा है। 

कमलनाथ ने अपने पत्र में लिखा है कि सरकार ने प्याज की बम्पर पैदावार को देखते हुए किसानो की मांग पर प्याज खरीदी थी। इसके लिए प्रदेश के कई जिलो में विभिन्न खरीदी केन्द्र बनाये गये। इस अवधि के दौरान, विभिन्न जिलो के खरीदी केंद्रो पर, जिलेवार खरीदी प्याज का आंकड़ा और कुल कितने मीट्रिक टन प्याज की खरीदी हुई? कितने खरीदी केंद्र बनाये गये। यह सूची मांगी है। इसके साथ ही सरकारी खजाने से कुल कितने रुपये की प्याज खरीदी का भुगतान किया गया। खरीदी गई प्याज के भंडारण व परिवहन पर कुल खर्च की राशि। कितना प्याज कहां व किस राज्य व जिले में किस व्यापारी को या अन्य किसी एजेंसी को किस दर पर किस माध्यम से बेचा गया? प्याज बेचने से कुल कितनी राशि प्राप्त हुई व कितनी बकाया है? कितना प्याज आज भी सरकारी या निजी गोदामों में रखा हुआ है। कितना प्याज कंट्रोल पर लोगों को सस्ता उपलब्ध कराने के लिय या बेचने के लिए भेजा गया है। भंडारण के अभाव में, बरसात में भीगने से या अन्य कारण से प्याज, खराब हुआ है? तो कितना? यह भी उन्होंने अपने पत्र में पूछा है।

उज्जैन-भोपाल में भी हुआ है घोटाला 
नागरिक आपूर्ति निगम के जीएम श्रीकांत सोनी ने सिर्फ शाजापुर जिले में प्याज बिक्री में कमीशनखोरी नहीं की है, बल्कि सोनी ने भोपाल और उज्जैन जिलों की विभिन्न मंडियों में यह गोरखधंधा चल रखा था। ईओडब्ल्यू तीनों जिलों के प्याज खरीदी के पूरे रिकॉर्ड को जल्द ही जब्त करने की तैयारी कर रहा है। ईओडब्ल्यू ने कल ही सोनी का चैम्बर सील कर दिया था। गौरतलब है कि  प्याज बिक्री के नाम पर सोनी पर कमीशनखोरी का आरोप लगा है। सोनी को आज जिला अदालत में पेश किया गया। सूत्रों की मानी जाए तो सोनी को कल शाम को ही ईओडब्ल्यू ने पूछताछ के लिए बुला लिया था। करीब एक घंटे की पूछताछ में सोनी ने बताया कि शाजापुर में करीब 22 हजार क्विंटल प्याज की खरीदी को लेकर उससे बात की गई थी। इतना प्याज मालगाड़ी के एक रैक में जाता है। सोनी ने पूछताछ में यह भी बताया है कि उसने भोपाल और उज्जैन के अलावा शुजालपुर, अकोदिया की मंडी में भी हेराफेरी कर कमीशनखोरी की है।

भोपाल पुलिस की हवालात में बीती रात
सोनी को भोपाल के एमपी नगर थाने की हवालात में रखा गया था। ईओडब्ल्यू में हवालात नहीं होने के चलते सोनी को भोपाल पुलिस की हवालात में रखा गया था। उनकी रात आंखों में ही कटी।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week